Business

Import Export का बिजनेस स्टार्ट कैसे करे Import Export  Business Hindi

Import Export का बिजनेस स्टार्ट कैसे करे Import Export  Business Hindi

Import Export  Business Hindi इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के बारे में तो आपने सुना होगा बहुत बड़ी न्यूज़ या मूवी में यह वर्ड आता है लेकिन बहुत से लोगो ने नाम तो सुना है लेकिन उसके बारे में पता नही है की आखिर यह होता क्या है यदि आपको नहीं पता तो आज हम बताते है की इम्पोर्ट एक्सपोर्ट क्या होते है इम्पोर्ट का मतलब किसी दूसरी कंट्री के किसी प्रोडक्ट को लाना और एक्सपोर्ट का मतलब किसी प्रोडक्ट को दूसरे देश में भेजनाआज दुनिया में कोई भी ऐसे कंट्री नही है जो इम्पोर्ट एक्सपोर्ट नहीं करती है क्योंकि कोई भी देश अपनी सारी जरूरतों को खुद पूरा नहीं कर सकती है  वह कुछ न कुछ तो दूसरे देश से मंगवाते है इसलिए इम्पोर्ट या एक्सपोर्ट तो करना पड़ता है

इसलिए आज इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिज़नेस बहुत ज्यादा सफल बिज़नस है बहुत से लोग इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के बिज़नेस में इन्वेस्टमेंट करने लगे है और बहुत पैसा कमाते है क्योंकि इस बिज़नेस को थोड़ी इन्वेस्टमेंट के साथ स्टार्ट किया जा सकता हैऔर थोड़ी बहुत इंटरनेशनल मार्केटिंग के बारे में नॉलेज के साथ आप यह बिज़नेस अच्छे से स्टार्ट कर सकते है | Import Export  Business Hindi

मेडिकल ऑक्सीजन सिलिंडर प्लांट कैसे लगाये

इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट बिज़नेस किसे कहते है? What Is Import and Export Business

इम्पोर्ट एक्सपोर्ट   के बिज़नेस के नाम से ही पता चलता है की यह किस चीज का बिज़नेस है और इसमें क्या काम करना पड़ता है इम्पोर्ट का मतलब आयात होता है यानी कोई भी वस्तु किसी बाहरी क्षेत्र चाहे वह देश मे हो या विदेश में हो और उसे मंगवाना ही इम्पोर्ट (आयात) कहलाता है।
वही किसी वस्तु को भेजना एक्सपोर्ट कहलाता है  और जो ये दोनों काम करता है उसको Import and Export Business कहते है लेकिन बिज़नेस के अन्दर लाइसेंस और अच्छी जानकारी की जरुरत पड़ती है |

इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट का Business के लिए जरूरी चीजे

Import and Export Business Requirements :- इस बिज़नेस को शुरु करने के लिए बहुत सी चीजो को जरुरत पड़ती है  लेकिन चीज की जरुरत Business  के आकार पर निर्भर करती है क्योकि  बिज़नेस बड़े लेवल पर शुरु करते है तो बहुत सी Requirements होती है |  

  • इन्वेस्टमेंट (Investment)
  • बिज़नेस प्लान (Business plan)
  •  लाइसेंस

अब निचे सभी के बारे में विस्तार से बतायेंगे की किस चीज कितनी जरुरत पड़ती है |  

प्लास्टिक के सामान की दुकान कैसे शुरु करे 

इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट बिज़नेस के लिए इन्वेस्टमेंट

Investments For Import and Export Business  :- इस बिज़नेस के अन्दर निवेश इस Business और जमीन के ऊपर निर्भर करता है क्योकि यदि बड़ा Business शुरु करते है तो ज्यादा इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है और छोटा बिज़नेस  शुरु करते है (Import and Export   ka business ) तो उसके अन्दर कम इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है ( Import and Export  ka business )और खुद की जमीन है तो कम पैसो में काम चल सकता है और यदि जमीन किराये पर लेते है या खरीदते है तो उसके अन्दर ज्यादा इन्वेस्टमेंट  (Investment)करनी पड़ती है |

  • ऑफिस =  Around Rs.  20,000  To Rs. 30,000  (किराये पर भी ले सकते है )

Total Investment :- Around Rs. 1  Lakh To Rs. 3 Lakhs (यदि जमीन खुद की है )

2022 में निवेश करने के लिए 5 सर्वश्रेष्ठ म्यूचुअल फंड

इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट का बिज़नेस के लिए जमीन

Land For Import and Export Business Hindi इसके अन्दर ज्यादा जमीन की जरुरत नही पड़ती है

  • Office  :- 150 Square Feet To 200 Square Feet

इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट का बिज़नेस  के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट

Document For Import and Export Udyog कोई भी Business  शुरु करते है तो कुछ पर्सनल डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़ती है और कुछ Business  से सबंधित लाइसेंस की जरुरत पड़ती है जैसे ; import export business registration

Personal Document (PD) :- Personal Document के अन्दर बहुत से डॉक्यूमेंट होते है जैसे :

  • ID Proof :- Aadhaar Card , Pan Card , Voter Card
  • Address Proof :- Ration Card , Electricity Bill ,
  • Bank Account With Passbook
  • Photograph Email ID , Phone Number ,
  • Other Document  

Business Document (PD) :-  Business Document के अन्दर बहुत से डॉक्यूमेंट होते है जैसे :

  • MSME industry Aadhaar Registration
  • Business Registeration
  • Business pan card
  • GST Number
  • VAT/CST and IEC Code
  • LLP Registration

सिंघाड़ा की खेती कैसे करे

आयात-निर्यात बिज़नेस के लिए निम्नलिखित बिंदुओं पर विचार करना चाहिए।

सही प्रोडक्ट सेलेक्ट करे :-  विदेशी बिज़नेस शुरू करते समय विचार करने वाला पहला बिंदु सही प्रोडक्ट का चयन है। कुछ प्रतिबंधित प्रोडक्ट हैं। चयन करने से पहले आपको प्रोडक्ट रेंज का अध्ययन करना चाहिए। आपको निर्यात और आयात की प्रवृत्ति का भी अध्ययन करना होगा।

बाजार की क्षमता Market Potential :- उत्पाद तय करने के बाद अगला कदम बाजार की संभावनाएं तलाश रहा है। प्रतिस्पर्धा, उत्पाद की खपत और लागू निर्यात लाभों का पता लगाने के लिए आपको बाजार अनुसंधान करने की आवश्यकता है। आप निर्यात एजेंसियों के साथ उपलब्ध डेटा का उपयोग कर सकते हैं। Import Export  Business Hindi

संभावित खरीदार और विक्रेता Potential Buyers & Sellers :- आपको संभावित खरीदारों और उत्पाद के विक्रेताओं का भी पता लगाना होगा। खरीदार विक्रेता देश भर में हो सकता है। ऐसा करने के लिए आप ऑनलाइन वेबसाइटों का उपयोग कर सकते हैं।

भुगतान की शर्तें Payment Terms :- आपको लागू भुगतान शर्तों, लेन-देन में उपयोग की जाने वाली मुद्रा के साथ-साथ भुगतान मोड के बारे में पहले से चर्चा करनी होगी। यह बिज़नेस में पारदर्शिता बनाए रखने में मदद करेगा।

जोखिम कवरेज Risk Coverage :- आपको इस व्यवसाय से जुड़े जोखिम का आकलन करने की भी आवश्यकता है। इस व्यवसाय को करते समय आपको जो बड़ा जोखिम होगा वह है भुगतान जोखिम। आप गैर-भुगतान के जोखिम को कवर करने के लिए ईसीजीसी का उपयोग कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप बीमा लेकर जोखिम को कवर कर सकते हैं।

शिपमेंट का तरीका Mode of shipment :- आपको शिपमेंट का मोड भी तय करना होगा। शिपमेंट हवाई मार्ग, समुद्री मार्ग, सड़क, पोस्ट पार्सल आदि के माध्यम से किया जा सकता है। प्रत्येक मोड में जुड़ी लागत अलग-अलग होती है।

लाभप्रदता Profitability :- आपके द्वारा चुने गए उत्पाद से जुड़ी लाभप्रदता की जांच करना बहुत महत्वपूर्ण है। एक उच्च लाभप्रदता आपको व्यवसाय में त्वरित सफलता देने की संभावना है।

कबाड़ का बिज़नेस कैसे शुरू करें

20 सबसे लाभदायक आयात निर्यात व्यापार विचार Import Export  Business Hindi

1. एल्यूमीनियम आयात निर्यात
भारत के बाहर के साथ-साथ एल्युमीनियम और एल्युमीनियम उत्पादों की मांग है। इस प्रकार, एल्यूमीनियम आयात निर्यात व्यापार शुरू करने से समझ में आता है। आईईसी लाइसेंस के अलावा, आपको इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और अन्य सरकारी अधिकारियों से अनुमोदन की आवश्यकता होगी।

2. कॉफ़ी
कॉफी निर्यात बहुत अच्छा व्यवसाय है। दुनिया भर में कॉफी की मांग बहुत अधिक है। भारत छठा सबसे बड़ा कॉफी उत्पादक देश है। देश, जहां आप कॉफी निर्यात कर सकते हैं, संयुक्त राज्य अमेरिका, फिनलैंड, नॉरवे, स्वीडन आदि हैं।

3. कपास यार्न कपड़ा निर्यात
कॉटन यार्न फैब्रिक एक्सपोर्ट इस सूची में आगे है। सूती यार्न का उपयोग कपड़ा बनाने के लिए किया जाता है। भारत दुनिया भर में सूती धागे के कपड़े का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। यदि आपके पास सूती धागे का पता है तो आप सूती धागे के कपड़े के निर्यात व्यवसाय का विकल्प चुन सकते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका, जापान, स्पेन, चीन कुछ देश प्रमुख आयातक देश हैं।

4. हीरा आयात निर्यात
भारत पूरी दुनिया में डायमंड पॉलिशिंग हब है। भारत मोटे तौर पर हीरे आयात करता है और पॉलिश और कटे हुए हीरे वापस भेजता है। कम कुशल श्रम और विशेषज्ञता की उपलब्धता हीरा व्यवसाय के संबंध में प्लस पॉइंट हैं। यह एक जोखिम भरा व्यवसाय है और इसमें बहुत अधिक निवेश की आवश्यकता होती है। यदि आपके पास विशेषज्ञता और ज्ञान है तो आप इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं।

5. इलेक्ट्रॉनिक घटक आयात
भारत में आयातित इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे टेलीविजन, रेफ्रिजरेटर, मोबाइल, और अन्य उपभोक्ता वस्तुओं की मांग बहुत अधिक है। इसलिए, इलेक्ट्रॉनिक सामान आयात व्यवसाय शुरू करना एक बहुत अच्छा व्यवसाय विकल्प है। इस व्यवसाय के लिए आवश्यक निवेश बहुत अधिक है। आपको इलेक्ट्रॉनिक सामान आयात व्यापार के लिए एक अच्छी विपणन रणनीति विकसित करने की आवश्यकता है।

6. उर्वरक आयात
भारत एक कृषि-आधारित अर्थव्यवस्था है। भारत में उर्वरक की मांग बहुत अधिक है। अधिकांश उर्वरक स्थानीय स्तर पर उत्पादित होते हैं। हालांकि, कुछ किसान आयातित उर्वरक पसंद करते हैं। इसने उर्वरक आयात / निर्यात व्यवसाय को जन्म दिया। यूरिया को छोड़कर अन्य सभी उर्वरक भारत में स्वतंत्र रूप से आयात किए जा सकते हैं।

7. ग्लास आयात
कांच और कांच के बने पदार्थ खतरनाक अपशिष्ट पदार्थों के अंतर्गत आते हैं। अधिकांश देश कांच के आयात और खपत को नियंत्रित और नियंत्रित करते हैं। कांच और संबंधित वस्तुओं को आयात करने के लिए आपको दिशानिर्देश और शर्तों का पालन करने की आवश्यकता है। आयातित ग्लास उत्पाद आमतौर पर मांग में रहते हैं। आप इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं और बहुत पैसा कमा सकते हैं। Import Export  Business Hindi

8. हस्तशिल्प वस्तु निर्यात
हस्तकला की वस्तुएं हाथ से या औजारों से बनी सजावटी वस्तुएँ हैं। भारतीय हस्तशिल्प वस्तुएं आमतौर पर भारत के बाहर मांग में रहती हैं। इसलिए, हस्तकला वस्तु निर्यात शुरू करना एक आकर्षक व्यवसाय विकल्प है।

9. आभूषण निर्यात
ज्वेलरी निर्यात कारोबार सूची में आगे है। भारत के बाहर भारतीय पारंपरिक आभूषणों की मांग बहुत अधिक है। यदि आपके पास विशेषज्ञ ज्वेलरी डिज़ाइनर हैं जो अद्वितीय आभूषण डिजाइन कर सकते हैं तो आप इस बाजार पर शासन कर सकते हैं। यह जोखिम भरा और मध्यम निवेश व्यवसाय विकल्प है।

10. मशीनरी आयात
पूरे भारत में आयातित उपकरण और मशीनरी की मांग बनी हुई है। यदि आप यांत्रिक पृष्ठभूमि से हैं या मशीनरी के बारे में जानते हैं तो आप मशीनरी आयात व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। आप इन मशीनरी को स्थानीय रूप से बेच सकते हैं या इसे ऑनलाइन बेचने के लिए ऑनलाइन वेबसाइट खोल सकते हैं।

11. दूध उत्पाद निर्यात
भारत दूध और दूध से संबंधित उत्पादों का सबसे बड़ा उत्पादक है। दूध उत्पादन और बिक्री लोगों के लाइव हुड के लिए महत्वपूर्ण है। दूध का निर्यात पास के देशों जैसे यूएई, बांग्लादेश, सिंगापुर और नेपाल में किया जा सकता है। आपके सामने एक चुनौती तापमान बनाए रखने की है, जबकि ये उत्पाद पारगमन में हैं।

12. प्राकृतिक रबर आयात निर्यात
प्राकृतिक रबर आयात निर्यात सबसे अच्छा निर्यात आयात व्यापार विचार में से एक है। रबड़ के पेड़ पर प्राकृतिक रबर का उत्पादन होता है। इन पेड़ों के लिए एक विशेष उपचार और देखभाल की आवश्यकता होती है। प्राकृतिक रबर का निर्यात थाईलैंड, मलेशिया, वियतनाम आदि देशों में किया जा सकता है।

13. तेल आयात
खाद्य उत्पादों में खाद्य तेल का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। भारत जैसे देश में खाद्य तेल की मांग बहुत अधिक है, इस प्रकार खाद्य तेल आयात व्यवसाय शुरू करना बहुत अच्छा व्यापार विचार है। खुले सामान्य लाइसेंस के तहत खाद्य तेल का आयात किया जा सकता है।

14. जैविक खाद्य निर्यात
जैविक भोजन प्राकृतिक भोजन (सब्जी और फल) है। भारत में जैविक भोजन उतना प्रसिद्ध नहीं है। हालांकि, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा जैसे देशों में जैविक भोजन की मांग बहुत अधिक है। आप जैविक खाद्य निर्यात से संबंधित व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और बहुत पैसा कमा सकते हैं।

15. प्रसंस्कृत खाद्य वस्तु निर्यात
भारत प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता है। भारत में उत्पादित प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ को पास के देशों में निर्यात किया जा सकता है। इस व्यवसाय में आपके द्वारा दी जा रही चुनौती पैकेजिंग और शिपिंग है। Import Export  Business Hindi

16. रेडीमेड परिधान आयात निर्यात
भारत परिधान के लिए प्रसिद्ध है। अन्य देशों की तुलना में भारत में कपड़ा उत्पादन सस्ता है। यह मुख्य रूप से कम लागत पर श्रम की उपलब्धता के कारण है। आयात निर्यात कारोबार के लिए रेडीमेड कपड़ा बहुत अच्छा उत्पाद है।

17. चीनी का निर्यात
सरकार द्वारा चीनी क्षेत्र को आंशिक रूप से नियंत्रित किया जाता है। चीनी का निर्यात मुफ्त है, बशर्ते आपका डीजीएफटी में पंजीकरण हो। चीनी का निर्यात चीन, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील आदि देशों में किया जा सकता है।

18. चाय निर्यात
चाय पूरी दुनिया में व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली वस्तु है। चाय विभिन्न प्रकारों में उपलब्ध है जैसे हर्बल चाय, ग्रीन टी, ब्लैक टी, ऑर्गेनिक टी आदि। आप भारत से विभिन्न देशों में चाय का निर्यात कर सकते हैं और बहुत पैसा कमा सकते हैं।

19. तंबाकू निर्यात
तंबाकू निर्यात बहुत अच्छा और लाभदायक व्यवसाय विकल्प है। हालांकि, कुछ देशों में तंबाकू का निर्यात प्रतिबंधित है। इसलिए, तम्बाकू निर्यात शुरू करने से पहले आपको कानूनों का बहुत सावधानी से अध्ययन करने की आवश्यकता है।

20. मसाले का निर्यात
भारतीय मसाले पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं। लोग भारतीय मसालों के दीवाने हैं। इससे भारतीय मसालों का निर्यात बहुत अच्छा कारोबार करता है। भारतीय मसालों का निर्यात हर साल बढ़ रहा है और आगे बढ़ने की उम्मीद है।

यदि आपको यह Import Export  Business Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये | import export business registration

Back to top button