Share Market

RBI MPC Outcome FY24 में 6.5% रह सकती है महंगाई की ऊंची दर अर्थव्‍यवस्‍था के लिए खतरा

RBI MPC Outcome FY24 में 6.5% रह सकती है महंगाई की ऊंची दर अर्थव्‍यवस्‍था के लिए खतरा  today rbi policy news

आज रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने मॉनिटरी पॉलिसी (RBI MPC Meet) का ऐलान किया और आरबीआई ने लगातार चौथी बार ब्याज दरें स्थिर रखी है रिजर्व बैंक ने ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है पो रेट 6.5 फीसदी पर बरकरार है. शक्तिकांता दास ने वित्‍त वर्ष 2024 में भारत की GDP का अनुमान 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है. वहीं, दूसरी तिमाही (Q2FY23) में 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है.

FY24 के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि का अनुमान 6.5% पर अपरिवर्तित है। इसी तरह, FY24 के लिए मुद्रास्फीति 5.4% रहने का अनुमान है उन्‍होंने बताया कि Q2FY24 में GDP अनुमान 6.5 फीसदी रहने का अनुमान है. जबकि, Q3FY24 में GDP अनुमान 6 फीसदी, Q4FY24 में 5.7 फीसदी और Q1FY25 में GDP अनुमान 6.6 फीसदी रह सकता है. आरबीआई ने जीडीपी के अनुमानों को पहले के स्‍तर पर बनाए रखा है.  today rbi policy news

डिविडेंड इनकम वाले 10 दमदार शेयर

और शक्तिकांत दास ने कहा कि चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही (Q2FY24) में इंडस्ट्रियल सेक्टर में रिकवरी देखने को मिली है और  एमपीसी ने रेपो रेट पर यथास्थिति बनाए रखने का फैसला किया है। एमपीसी ने आखिरी बार फरवरी 2023 में अपनी बैठक में इस दर को 6.25 प्रतिशत से बढ़ाकर 6.50 प्रतिशत कर दिया था। द्विमासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए

FY24 के लिए मुद्रास्फीति 5.4% रहने का अनुमान है और RBI मॉनिटरी पॉलिसी के 6 सदस्यों में सभी ने रेपो रेट को स्थिर रखने पर सहमति जताई, जबकि 6 में से 5 सदस्य अकोमोडेटिव रुख बनाए रखने के पक्ष में रहे.  today rbi policy news

और सबसे बड़ी बात फेस्टिव सीजन में RBI ने ब्‍याज दरों में कोई बढ़ोतरी न करके कस्टमर को अच्छा तोफहा दिया है इसलिए बहुत से सेक्टर इस ब्‍याज दरों में कोई बढ़ोतरी ना करने से बहुत खुस है इसलिए ये पालिसी बढ़िया रही इसका असर शेयर मार्किट में देखने को मिलेगा जिस से बहुत सारे इन्वेस्टर को अच्छी उम्मीद है और इस से अच्छा पैसा बना सके |

 

यदि आपको ये today rbi policy news 2030 की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Discover more from Invest Kare

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading