Business

प्राइवेट स्कूल कैसे खोले पूरी जानकारी School Kaise Khole Hindi

प्राइवेट स्कूल कैसे खोले पूरी जानकारी Private school kaise khole

How to open a school in india  आज आप कंही किसी सिटी के अंदर जायेंगे तो वंहा देखेंगे की गवर्नमेंट से ज्यादा Private school मिलेंगे क्योंकि आज स्टूडेंट इतने ज्यादा है और सभी के पेरेंट्स अपने बच्चों को अच्छी एजुकेशन देना चाहते है और गवर्नमेंट स्कूल के अंदर इतने स्टूडेंट को अच्छी तरह से एजुकेशन नहीं मिल सकती है इसलिए अपने बच्चों का Private school के अंदर एडमिशन करवाते है इसलिए आज जगह जगह पर Private school ओपन हो रहे है और एक प्राइवेट स्कूल में इनकम भी बहुत ज्यादा है

इसलिए यदि कोई एक अच्छी सी इन्वेस्टमेंट के साथ एक Private school ओपन करे तो अच्छा इनकम का सोर्स बन सकता है इसलिए यदि कोई भी स्कूल ओपन करने की सोच रहे है चाहे कोई सीनियर सेकेंडरी स्कूल ओपन करे या कोई नर्सरी स्कूल ओपन करे कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए.और निचे स्कूल ओपन करने की प्रोसेस दी गयी है

लाइब्रेरी बिज़नेस कैसे शुरु करे 

Private school ओपन करने की प्रक्रिया Private school kaise khole

सबसे पहले Private school के लिए Grade लेवल्स Determine करे

यदि कोई Private school ओपन करना चाहता है तो सबसे पहले स्कूल की ग्रेड को Determine करे यानि किस Grade के साथ स्कूल स्टार्ट करे कोई भी प्राइवेट स्कूल Lower Grade लेवल्स के साथ स्टार्ट करना चाहिए टाइम के साथ Grade लेवल ऊपर हो जाता है.

प्लास्टिक के सामान की दुकान कैसे शुरु करे 

Private school Committee बनाये

अपने स्कूल की Grade लेवल्स को Determine करने के बाद एक Private school के लिए Committee बनायेक्योंकि कोई अकेला व्यक्ति स्कूल नहीं चला सकता है इसलिए Committee बनानी चाहिए और समिति के अंदर ऐसे मेंबर होने चाहिए जो डिफरेंट एरियाज में एक्सपर्ट्स हो जैसे :- education, legal, accounting, business and construction आदि How to open a school in india

प्राइवेट स्कूल्स स्टेट की Education रिक्वायरमेंट्स के बारे में पता करे

आज बहुत से स्टेट्स के अंदर Private school  की देख रेख डिपार्टमेंट ऑफ़ एजुकेशन की एक डिवीज़न के द्वारा की जाती  है और स्टेट के अंदर प्राइवेट स्कूल्स के लिए इंडिविजुअल Accrediting एजेंसीज होती है इनके रूल के अकॉर्डिंग Private school के रूल होते है

बिज़नेस Entity Create करे Private school kaise khole

Educational Requirements को रिसर्च करने के बाद अपने बिजनेस की Entity क्रिएट करे आपको यह बताना है  की आप स्कूल अपने बिज़नेस के रूप में प्रॉफिट के लिए ओपन कर रहे है या नॉन-प्रॉफिट ओपन करना चाहता है क्योकि यदि स्कूल नॉन प्रॉफिट ओपन किया गया है तो टैक्स में छुट की जाएगी क्योकि यदि स्कूल नॉन प्रॉफिट ओपन किया गया है तो टैक्स में छुट की जाएगी

स्टेशनरी दुकान कैसे खोले

Private school के लिए बिज़नेस प्लान तैयार करे

यदि स्कूल बिज़नेस के लिए ओपन किया जा रहा है तो उसका बिज़नस के रूप में प्लान तैयार करे क्योकि बिज़नेस प्लान के अंदर बहुत से प्लान बहुत चीज जाती है जैसे; ऑपरेशनल प्लान्स (jisme  financial and marketing होते है ), educational plans (educational focus, curriculum, implementation and assessment आदि प्लान किये जाते है )सभी प्लान क्रिएट किये जाते है.और प्लान के अकॉर्डिंग सब चीजों पर काम किया जाता है. और किसी भी बिज़नेस के लिए प्लान बहुत जरुरी है क्योंकि एक बिज़नेस शुरू करने में कितना खर्चा है, कितने मशीन लगेगी, कितने एम्प्लोयी लगेंगे और फ्यूचर मै कितना प्रॉफिट मिलेगा ये सब बाते बिज़नेस प्लान के अंदर ही स्टडी की जाती है.

बजट तैयार करे और पैसे का इंतजाम करे

बजट के अंदर बिज़नेस के अंदर होने वाले अनुमानित खर्चे और प्रॉफिट का पता लगाया जाता है और बजट के बारे में अपने समिति के अंदर कोई भी अकाउंटेंट और फाइनेंसियल स्पेशलिस्ट हो उसे से एडवाइस लेनी चाहिए.और बजट बनाने के बाद बिज़नेस के लिए पैसे का इंतजाम करे क्योकि पैसे के बिना आप इतना बड़ा बिज़नस नही कर सकते है क्योंकि पैसे के बिना आप इतना बड़ा बिजनेस नही कर सकते है how to open school in rural area

इलेक्ट्रॉनिक की दुकान कैसे खोले 

बेस्ट लोकेशन सेलेक्ट करे

एक स्कूल के लिए एक Perfect Location सर्च करे लोकेशन की ऐसी जगह होनी चाहिएजंहा Residential एरिया हो यदि आपके पास खुद पास जमीन है तो खुद से बुल्डिंग बना ले और यदि खुद के पास नही है तो एक बुल्डिंग रेंट पर भी ले सकते है और यदि आप एक छोटा नर्सरी स्कूल ओपन करना चाहते है तो एक छोटी बुल्डिंग जिसमे 8 से 10 अच्छे रूम हो और 1 हॉल रूम होना चाहिए जिसमे से 1 लाइब्रेरी होनी चाहिए

के लिए और 1 स्टाफ रूम 1 ऑफिस के लिए रूम और टॉयलेट एंड बाथरूम होने चाहिए.यानि कम से कम 1000 और 1200 स्क्वायर फीट, की जगह होइ चाहिए और अच्चा प्ले ग्राउंड होने चाहिए और उसके बाद अंदर के Infrastructure की बारी आती है यानि के अंदर का फर्नीचर तो एक नर्सरी स्कूल के अंदर यदि 100 स्टूडेंट है तो कम से कम 33 से 34 ऐसे टेबल बनवाये जिनके ऊपर 3 स्टूडेंट एडजेस्ट हो सके और और कुर्सी की भी जरुरत पड़ती है. how to open school in rural area

ब्यूटी पार्लर कैसे खोलें 

Skilled Staff Hire करे

किसी भी स्कूल की परफॉरमेंस का जरुरी पार्ट स्कूल स्टाफ होता है क्योंकि यदि स्कूल के अंदर अच्छा टीचिंग स्टाफ होगा तो अच्छा रिजल्ट रहेगा तो एक अच्छा और स्किल्स स्टाफ को Hire करेकम सैलरी के चक्कर में 12th क्लास पास को टीचर न रखे एक अच्छा स्टाफ ही टीचिंग के लिए रखे आजकल स्टेट्स गवर्नमेंट ने टीचर के लिए बहुत से डिप्लोमा स्टार्ट किये है जैसे ; B.Ed., B.S.T.C., D.L. Ed. e.t.c.तो उसी कैंडिडेट को सेलेक्ट करे जिसके पास टीचिंग के लिए डिप्लोमा या डिग्री हो और स्किल एंड ट्रेनिंग सर्टिफिकेट्स को अच्छी तरह से चैक करे.

खाद बीज की दुकान कैसे खोले

स्कूल का Promotion करे

प्रमोशन करने के बहुत से तरीके है किसी भी स्कूल का प्रमोशन करने के लिए किसी Newspaper या मैगजीन्स में Advertisement दे सकते हैया स्कूल के नाम से वेबसाइट बनवाएं और उसके ऊपर स्कूल के बारे में पूरी जानकारी प्रोवाइड करे उसके ऊपर admissions और enrollment information से related पूरी information प्रोवाइड करे

 Starting Private School.

तो कोई भी व्यक्ति कोई प्राइवेट स्कूल ओपन कर सकता है लेकिन यदि कोई एक सीनियर सेकंडरी ओपन करना चाहता है तो उसके लिए स्कूल का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता और मान्यता भी लानी पड़ती है उसके रूल निचे दिए गये है |

स्कूल फीस कितनी रखे Private school kaise khole

किसी भी स्कूल की फीस उसके अंदर होने वाले एडमिशन स्टार्ट होने से पहले सेलेक्ट की जाती यदि नर्सरी स्कूल है और सभी क्लास में 20 से 25 स्टूडेंट है तो इस तरह से फीस सेलेक्ट कर सकते है

  • 1st Class- 6500  Yearly
  • Second Class – 7000 Yearly
  • Third Class- 7500 Yearly
  • 4th class- 7800 Yearly
  • Fifth Class – 8500 Yearly

200 स्माल स्केल बिज़नेस

Private school के पंजीकरण की प्रक्रिया और मान्यता नियम

जब अपने स्कूल के लिए समिति बनाई थी तो समिति के सभी मेंबर अपनी समिति का Purpose लेके रजिस्ट्रार के पास रजिस्ट्रेशन के लिए चले जायेवंहा कम से कम Rs.10,000 से Rs.15,000 तक खर्चा आएगा और यदि P urpose अच्छा होगा तो रजिस्ट्रार रजिस्ट्रेशन कर देगा और एक इंस्टीटूशन सर्टिफिकेट प्रोवाइड करेगा उसके बाद आपको अपने स्कूल के लिए एक स्कूल टीचर की टीम बनानी होगी

और ध्यान रहे की आपके टीचर स्टाफ के अंदर 2 टीचर बी.एड.की डिग्री के साथ होने चाहिएऔर अप्रैल-मई के महीने में न्यू स्कूल के लिए रजिस्ट्रेशन होते है तो उसी टाइम ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई कर सकते है इस पर कम से कम Rs. 2000 का खर्चा आएगा उसके बाद आपके स्कूल या आर्गेनाइजेशन के सर्टिफिकेट की कॉपी लेके D.E.O. ऑफिस में जाये सब्मिट करें

और वहां कम से कम Rs. 10,000 का खर्चा आएगा कुछ दिन के बाद D.E.O.ऑफिस से कुछ Employees आएंगे और आपके स्कूल की बिल्डिंग और स्टाफ सब कुछ चेक करेंगे और डॉक्यूमेंट चैक करने के बाद सब कुछ सही है तो ओके कर देंगे और आप स्कूल स्टार्ट कर सकते है Private school kaise khole

एडमिशन के लिए Advertisement कैसे करे

यदि किसी भी स्कूल की Advertisement करनी है तो सबसे पहले स्कूल का जो नाम है उसे नाम के साथ एक अच्छी पंफ्लेट्स तैयार करवाए और उसके ऊपर कुछ अच्छे अच्छे वर्ड्स लिखवाये जो देखने वाले को अट्रैक्ट करे और राइट डायरेक्शन प्रोवाइड करे|

और किसी Newspaper या मैगज़ीन के अंदर Advertisement दे और पास के गांव में घर घर जाकर पैरंट्स से मिले और स्कूल के बारे में बताए या किसी लोकल चैनल पे advertisement दे सकते है और एडमिशन से रिलेटेड इनफार्मेशन दे सकते है

स्कूल ओपनिंग के बाद कुछ बातों का ध्यान रखे Private school kaise khole

  • सबसे पहले अपने स्कूल का टाइम एक दम  सही फिक्स करे जैसे; सुबह स्कूल ओपनिंग टाइम प्रेयर टाइम लंच टाइम और छुट्टी का टाइम सभी टाइम एक दम सही से फिक्स करे
  • और स्कूल के अंदर बच्चों के साथ साथ स्टाफ का भी पूरा ध्यान रखे की बच्चे उन से संतुष्ट है या स्टाफ में कुछ चेंज करना पड़ेगा
  • समय समय पर अपने स्टाफ के साथ मीटिंग करे
  • RTE  Act,के Under 25% स्कूल सीट रिज़र्व होनी चाहिए |
  • और यदि बच्चे दूर से आते है तो बच्चों को टाइम पर घर तक पहुचाये और सुबह टाइम से स्कूल लाने के लिए वैन पहुचाये
  •  स्कूल में एक अच्छा एन्वॉयरमेंट प्रोवाइड करे जिस से स्टूडेंट का स्कूल आने का मन करे
  • और स्टूडेंट की कोई शिकायत है तो उसका टाइम से सलूशन करे.

तो इस तरह से कोई भी व्यक्ति एक Private school  ओपन कर सकता है.उम्मीद है हमारे द्वारा प्रोवाइड की गई जानकारी आपके काम आएगी और जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों को शेयर करे और कमेंट करे. how to open school in up

Private Kchool Kaise Khole FAQ

Q. Private school खोलने के लिए क्या करना चाहिए?
Ans. ऑनलाइन आवेदन पत्रों का भौतिक सत्यापन:500 वर्गमीटर जमीन होने पर ही मिलेगी निजी स्कूल संचालन की मान्यता अब शहरी क्षेत्र में 500 वर्गमीटर एवं ग्रामीण क्षेत्र में 2 हजार वर्गमीटर जमीन हाेने पर ही निजी स्कूल संचालन की मान्यता दी जाएगी।

Q. स्कूल कौन खोल सकता है?
Ans. सभी स्कूल के लिए आपको, म्युनिसिपलटी की परमिशन के साथ, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की आज्ञा के बिना आप कोई भी स्कूल नहीं खोल सकते है। अगर इससे भी ऊपर का स्कूल खोलना चाहते हैं तो उसके लिए केंद्रीय शिक्षा बोर्ड की परमिशन ले लेना बहुत जरूरी होता है। इसके बिना आप स्कूल नहीं खोल सकते।

Q. यूपी में प्राइमरी स्कूल खोलने के लिए कितनी जमीन चाहिए?
Ans. यूपी में बदले नियमों में कहा गया है कि शहर में 500 वर्ग मीटर खेल का मैदान होगा तभी प्राइमरी स्कूल खोले जा सकते हैं।

Q. भारत में कौन स्कूल खोल सकता है?
Ans. एक सोसायटी या ट्रस्ट या सेक्शन 8 कंपनी ही भारत में स्कूल शुरू कर सकती है। ट्रस्ट बनाने के लिए न्यूनतम दो सदस्यों की आवश्यकता होती है, लेकिन अधिकतम संख्या की कोई सीमा नहीं है। सभी सदस्यों को न्यासी बोर्ड कहा जाता है जो निर्दिष्ट न होने तक आजीवन सदस्य होते हैं।

Q. भारत में प्राइवेट स्कूल खोलने में कितना खर्च आता है?
Ans. एक प्राथमिक विद्यालय के लिए लगभग ₹8-10 लाख के निवेश की आवश्यकता होगी। 10+2 स्कूल स्थापित करने के लिए लागत ₹2 करोड़ तक जा सकती है। स्कूल के निर्माण, फर्नीचर बनाने, कर्मचारियों की भर्ती, विज्ञापन शुल्क आदि में अपने बजट वितरण की योजना बनाएं।

Q. स्कूल खोलने के लिए कितने पैसे चाहिए? Private school kaise khole
Ans. इंग्लिश प्राइमरी स्कूल के लिए 5 लाख रु. उच्च प्राथमिक विद्यालय हेतु 3 लाख रू. अंग्रेजी माध्यम उच्च प्राथमिक विद्यालय के लिए 10 लाख । जमा राशि सरकार और स्कूल प्रबंधन के संयुक्त खाते में रखी जानी चाहिए।

Q. प्राइमरी स्कूल और Private school में क्या अंतर है?
Ans. सरकारी स्कूल और निजी स्कूल के बीच …
सरकारी स्कूल का भवन छोटा अनाकर्षक होता है तथा निजी स्कूलों का भवन बड़ा तथा आकर्षक होता है . सरकारी स्कूल का शिक्षक की योग्यता निर्धारित मापदंडो के अनुसार होती है उसे BEd या DEd होना अनिवार्य है तथा निजी स्कूलों के शिक्षको के साथ येसा बंधन नहीं है

Q. भारत में कुल कितने Private school हैं?
Ans. रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 के बाद से स्थापित 97, 000 स्कूलों में से 67,000 निजी और बिना सहायता प्राप्त हैं।

Q. फ्री स्कूल सिस्टम क्या है?
Ans. राजस्थान सरकार ने भी स्‍कूली बच्‍चों को मुफ्त शिक्षा देने के लिए वर्ष 2021 से बड़ी योजना शुरू की है। यहां के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा पहली से आठवीं तक के सभी छात्रों को अब मुफ्त में शिक्षा दी जाती है। साथ ही छात्रों को स्‍कूल यूनिफॉर्म भी मुहैया कराया जाता है।

Q. स्कूल के 3 प्रकार कौन से हैं?
Ans. इनमें विभिन्न प्रकार के स्कूल शामिल होते हैं, जैसे कि सरकारी स्कूल, निजी स्कूल, आदि। ये स्कूल शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों दोनों में होते हैं।

Q. स्कूल का फुल फॉर्म क्या है?
Ans. जैसा कि पहले बताया गया है, स्कूल का फुल फॉर्म क्या है, इसे लेकर हमेशा से सवाल मौजूद रहा है। प्रश्न का उत्तर देने के लिए, यह एक संक्षिप्त नाम नहीं है इसलिए इसका कोई विशिष्ट पूर्ण रूप नहीं है । यह छात्रों के लिए सीखने का एक स्थान है।

Top Searches;- school manyata form rajasthan ,school me kya kya hona चाहिए Private School Kaise Khole Full Details In Hindi , pimary school ki मान्यता school manyata up ,up primary school ki manyata school manyata up 2017high school manyata etc.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button