बी एच एम एस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बी एच एम एस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी What is BHMS Degree course ? Information related to its subjects , qualifications and fees

Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery मेडिकल क्षेत्र में एक Bachelor Degree Program है। इस डिग्री में होम्योपैथिक प्रणाली के चिकित्सा ज्ञान को शामिल किया गया है। इस डिग्री को पूरा करने के बाद आप होम्योपैथिक चिकित्सा क्षेत्र में एक डॉक्टर बनने के लिए योग्य हैं। Bachelor of Homeopathic Medicine और Surgery , Homeopathy में एक समग्र चिकित्सा प्रणाली है।.

BHMS Degree course Details

जिसमें शरीर की प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली को बढ़ाकर रोगियों के उपचार को शामिल किया जाता है। आज की हमारी यह पोस्ट BHMS Course से सम्बंधित जानकारी के बारे में है की आप यह कोर्स कैसे कर सकते हैं  और इस से जुडी अन्य जानकारी इस पोस्ट में दी है।

एमबीबीएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएचएमएस क्या है ?

BHMS यानी  Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery एक Under Graduate Course है , जिसमें आपको मेडिकल में Homeopathic से जुड़ी पढ़ाई करवाई जाती है। यह कोर्स करीब साढ़े पांच साल का कोर्स होता है, जिसमे 4.5 साल की कॉलेज होती है और 1 साल की Internship होती है। BHMS कोर्स करने के बाद आप Homeopathic Medical Field में डॉक्टर बन जाते हैं। इस डिग्री को करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर नाम लगाया जाता है। इस कोर्स में आपको Theoretical Study के साथ साथ Practical Study भी करवाई जाती है।

बीएचएमएस कोर्स क्यों चुनें ? BHMS Degree course Details

BHMS कोर्स चुननें के कुछ कारण नीचे लिखित हैं:

  • होम्योपैथी एक समग्र दृष्टिकोण है जिसमें प्राकृतिक चिकित्सा के अभ्यास से ठीक करना सिखाया जाता है
  • यूएस न्यूज के अनुसार, भारत और विदेशों में अगले पांच वर्षों में BHMS कोर्स के 25% बढ़ने की उम्मीद है।
  • आपके ग्रेजुएट होने के बाद , आपका औसत वेतन 6-10 लाख प्रति वर्ष के बीच होगा | BHMS Degree course Details
  • आयुर्वेदिक अध्ययन की तुलना में, BHMS कोर्स बहुत आसान है जिसमें आधुनिक विज्ञान भी शामिल है।

बीएचएमएस कोर्स सिलेबस

सामान्य एनाटॉमी, रीजनल एनाटॉमी, बॉडी फ्लूइड्स, रेस्पिरेटरी, पाचन या उत्सर्जन प्रणाली जैसे विषय आपकी पकड़ मजबूत करने में मदद करेंगे और व्यावहारिक समझ के लिए एक ठोस आधार भी तैयार करेगी जो पाठ्यक्रम का एक हिस्सा है। नीचे उल्लिखित कुछ प्रमुख बीएचएमएस पाठ्यक्रम विषय हैं:

प्रथम वर्ष (1st Year) –

  • ऑरगेनन ऑफ़ मेडिसिन (Organon of Medicine)
  • होम्योपैथिक दर्शन और मनोविज्ञान के सिद्धांत (Principles of Homeopathic Philosophy and Psychology)
  • बायोकैमिस्ट्री सहित फिजियोलॉजी (Physiology including Biochemistry)
  • एनाटॉमी (Anatomy)
  • हिस्टोलॉजी (Histology)
  • भ्रूणविज्ञान (Embryology)
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका (Homeopathic Materia Medica)
  • होम्योपैथिक फार्मेसी (Homeopathic Pharmacy)

एम एससी कोर्स क्या होता है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

द्वितीय वर्ष (2nd Year)

  • पैथोलॉजी (Pathology)
  • माइक्रोबायोलॉजी (Microbiology)
  • वायरोलॉजी (Virology)
  • पैरासिटोलॉजी बैक्टीरियोलॉजी (Parasitology Bacteriology)
  • चिकित्सा और होम्योपैथिक दर्शन के सिद्धांतों का संगठन (Organization of principles of medicine and homeopathic philosophy)
  • फोरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी (Forensic Medicine and Toxicology)
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका (Homeopathic Materia Medica)
  • ईएनटी, आई डेंटल और होमियो थेरेप्यूटिक्स सहित सर्जरी (Surgeries including ENT, Eye Dental and Homeo Therapeutics)
  • चिकित्सा और होमियो थेरेप्यूटिक्स का अभ्यास (Medicine and practice of homeotherapeutics)
  • प्रसूति और स्त्री रोग शिशु देखभाल और होमियो थेरेप्यूटिक्स (Obstetrics & Gynecology Child Care & Homeo Therapeutics)

तृतीय वर्ष (3rd Year) –

  • चिकित्सा और होमियो थेरेप्यूटिक्स का अभ्यास (Medicine and practice of homeotherapeutics)
  • प्रसूति और स्त्री रोग शिशु देखभाल और होमियो थेरेप्यूटिक्स (Obstetrics & Gynecology Child Care & Homeo Therapeutics)
  • ईएनटी, ऑप्थल्मोलॉजी, डेंटल और होमियो थेरेप्यूटिक्स सहित सर्जरी (Surgery including ENT, Ophthalmology, Dental and Homeo Therapeutics)
  • ऑरगेनन ऑफ़ मेडिसिन (Organon of Medicine)
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका (Homeopathic Materia Medica)

चतुर्थ वर्ष (4th Year) –

  • चिकित्सा और होमियो थेरेप्यूटिक्स का अभ्यास (Medicine and Practice of Homeotherapeutics)
  • ऑरगेनन ऑफ़ मेडिसिन (Organon of Medicine)
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका (Homeopathic Materia Medica)
  • रिपर्टरी (Repertory)
  • सामुदायिक चिकित्सा (Community Medicine)

एम डी डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएचएमएस में विशेषज्ञता –

BHMS Course से आप किस क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करना चाहते है उसकी सूची नीचे दी गयी है :

  • होम्योपैथिक फार्मेसी (Homeopathic Pharmacy)
  • होम्योपैथिक बाल चिकित्सा (Homeopathic Pediatric)
  • होम्योपैथिक मनोरोग (Homeopathic Psychiatry)
  • होम्योपैथिक त्वचा विशेषज्ञ (Homeopathic Dermatologist)
  • होम्योपैथिक बांझपन विशेषज्ञ (Homeopathic Infertility Specialist)

बीएचएमएस कोर्स के बाद पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स –

अगर आप बीएचएमएस के बाद आगे इसी से मास्टर्स करना चाहते हैं , तो ऐसे कई कोर्स हैं जिन्हें आप मास्टर्स स्तर पर कर सकते हैं। बीएचएमएस के वाद स्नातकोत्तर के कोर्स निम्न हैं :

  • Master of Science (M.Sc.) Courses
  • Doctor of Medicine (M.D.) in homeopathy courses
  • Masters of Business Administration (MBA)
  • Masters of Hospital Administration
  • Postgraduate Diploma course
  • MD (Hon) Materia Medica
  • MSc Clinical Research
  • MD (Hon) Organon of Medicine and Philosophy
  • MSc Human Genome
  • MD (Hon) Practice of Medicine
  • MSc Medical Biochemistry
  • MD (Hon) Psychiatry
  • MSc Health Sciences and Yoga Therapy
  • PGDM Holistic Health Care
  • PGDM Preventive and Promotive Health Care
  • PGDM Diabetes Mellitus
  • MSc Medical Anatomy
  • PGDM Clinical Diabetology
  • MSc Neuroscience
  • MHA (Master of Hospital Administration)
  • MSc Genetics
  • MBA in Healthcare Management
  • MSc Food and Nutrition
  • MPH (Master of Public Health)

बीएचएमएस कोर्स फीस –

कोई भी कोर्स हो फिर चाहे वह मेडिकल फील्ड का हो , आर्ट्स का हो या कॉमर्स का सभी में फीस का एक मुख्य आधार होता है | आज की हमारी यह पोस्ट बीएचएमएस से सम्बंधित है तो आपको बता दें की इसके लिए भी इसका एक क्रितेरा होता है जिसके अंतर्गत आपको फीस भरनी होती है | बीएचएमएस कोर्स के लिए फीस का संस्थान के प्रकार

जैसे की वह शिक्षण संस्थान प्राइवेट है या गवर्नमेंट उसके आधार पर ही इसकी न्यूनतम वार्षिक फीस और अधिकतम वार्षिक फीस निर्धारित होती है | अगर आप यह गवर्नमेंट कॉलेज से करते है तो आपको इसके लिए लगभग 40 हजार से 1 लाख रूपये तक फीस भरनी पड़ सकती है और अगर आप इसे प्राइवेट से करते है तो इसके लिए आप को लगभग 1 लाख से 3 लाख रूपये तक फीस भरनी पड़ सकती है |

एमएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएचएमएस कोर्स के लिए योग्यता –

बीएचएमएस कोर्स को आगे बढ़ाने के लिए न्यूनतम योग्यता जीवविज्ञान / रसायन विज्ञान / भौतिकी / है। BHMS कोर्स में एडमिशन लेने सम्बंधित अन्य आवश्यक योग्यताएं नीचे दी है :  BHMS Degree course Details

  • मुख्य विषयों के रूप में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान के साथ किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से 10+2 की औपचारिक शिक्षा पूरी करनी होगी।
  • आवेदकों को न्यूनतम 50% अंकों के साथ कक्षा 12 वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करनी चाहिए।
  • NEET में न्यूनतम आवश्यक स्कोर
  • आवेदकों की आयु 17 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।
  • कुछ विश्वविद्यालय भी उम्मीदवारों से विश्वविद्यालय स्तर की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने की मांग करते हैं।

बीएचएमएस कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया –

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई University की Official Website में जाकर Registration करें।
  2. University की Website में Registration के बाद आपको एक Username और Password प्राप्त होगा।
  3. फिर Website में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें।
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

एम कॉम कोर्स क्या होता है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएचएमएस कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम –

BHMS कोर्स में प्रवेश (BHMS course details in Hindi), प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। उम्मीदवारों को राज्य-स्तर और राष्ट्रीय-स्तर पर आयोजित विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है। BHMS में प्रवेश के लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा में से कुछ हैं:

  • NEET – National Eligibility cum Entrance Test ,
  • TS EAMCET – Telangana State Engineering, Agriculture & Medical Common Entrance Test ,
  • AP EAMCET – Andhra Pradesh Engineering Agriculture and Medical Common Entrance Test ,
  • KEAM – Kerala Engineering Architecture Medical , Entrance Exam ,
  • PU CET – Panjab University Common Entrance Test ,
  • IPU CET – Indraprastha University Common Entrance Test ,
  • BVP CET – Bharati Vidyapeeth Common Entrance Test ,

Required Skills for BHMS

BHMS Course का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है आवश्यक कौशल। होम्योपैथी डॉक्टरों को अपने रोगियों की सेवा करने के लिए कौशल के एक अद्वितीय सेट की आवश्यकता होती है; जिनमें से कुछ अंतर्निहित हैं, और अन्य जिन्हें सीखा जा सकता है। हर दिन कर्तव्यों के लिए अलग कौशल की आवश्यकता होगी, और इन कौशल को पूर्ण और परिष्कृत करके वे खुद को अधिक प्रतिस्पर्धी बना सकते हैं और उनका काम बहुत अधिक प्राप्य और सुखद होगा।

  • भावनात्मक लचीलापन और पहल और दबाव वाले वातावरण और चुनौतीपूर्ण / तनावपूर्ण स्थितियों में काम करने की इच्छा।
  • प्राकृतिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और होम्योपैथिक उपचार में कुशल होने में रुचि।
  • मजबूत मौखिक और सुनने के कौशल, एक खुले दिमाग और सीखने की इच्छा।
  • एक बहु-विषयक स्वास्थ्य देखभाल टीम के हिस्से के रूप में कुशलता से काम करने की क्षमता।
  • दबाव में काम करने की क्षमता सहित कार्य को प्राथमिकता देने और कार्यभार का प्रबंधन करने की क्षमता।
  • दूसरों को क्या संदेश दे रहे हैं, इस पर पूरा ध्यान देते हुए, बताए गए बिंदुओं को समझने में समय दें, प्रश्नों को उपयुक्त समझें, और असामयिक परिहार से बचें।
  • रोगियों के साथ उत्कृष्ट संबंधों का निर्माण और विकास करना।

एम ए कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएचएमएस कोर्स के लिए रोजगार क्षेत्र BHMS Degree course Details

नीचे दिए गए रोजगार क्षेत्र बीएचएमएस कोर्स का एक महत्त्वपूर्ण  हिस्सा है –

  • क्लिनिक / नर्सिंग होम / अस्पताल (Clinic / Nursing Home / Hospital)
  • मेडिकल कॉलेज / अनुसंधान संस्थान / प्रशिक्षण संस्थान (Medical College / Research Institute / Training Institute)
  • होम्योपैथिक मेडिसिन स्टोर / फार्मासिस्ट (Homeopathic Medicine Store / Pharmacist)
  • औषधालयों (Dispensaries)
  • अस्पताल (Hospital)
  • मेडिकल कॉलेज (Medical College)
  • अनुसन्धान संस्थान (Research Institutes)
  • फार्मेसी (Pharmacy)
  • धर्मार्थ संस्थान (Charitable Institution)
  • व्यक्तिगत क्लीनिक (Individual Clinics)
  • निजी अस्पताल (Private Hospital)

नौकरी की संभावनाएं और वेतन BHMS Degree course Details

भारत में औसतन BHMS Course Graduates INR 35,000 – INR 40,000 प्रति माह तक कमा सकते हैं और कुछ अनुभव के साथ, INR 50,000 से INR 60,000 प्रति माह वेतन प्राप्त कर सकते हैं। यहां उनके औसत वेतन के साथ कुछ सबसे लोकप्रिय नौकरी की संभावनाएं हैं जिन्हें आप इस पाठ्यक्रम को पूरा करने के बाद चुन सकते हैं :

रोजगार की संभावनाएं और उनकी औसत अनुमानित वार्षिक वेतन (INR)

  • होम्योपैथिक चिकित्सक 6 से 20 लाख
  • जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ 3 से 5 लाख
  • शल्य चिकित्सक 6 से 8 लाख
  • आहार विशेषज्ञ से 4 लाख
  • निजी व्यवसायी 6 से 12 लाख
  • फार्मेसिस्ट 2 से 6 लाख
  • नर्स 2 से 4 लाख
  • शिक्षक/व्याख्याता 2 से 8 लाख

एमएससी साइंस बॉटनी कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

भारत में बीएचएमएस कोर्स के लिए शीर्ष कॉलेज –

बीएचएमएस कोर्स के लिए भारत के शीर्ष 10 कॉलेजों की सूची निम्न हैं :

  1. Lokmanya Homeopathic Medical College, Pune
  2. Sanskriti University, Mathura
  3. Government Homoeopathic Medical College and Hospital, Pune
  4. Kerala University of Health Sciences, Thrissur
  5. Chandaben Mohanbhai Patel Homeopathic Medical College, Mumbai
  6. Bharati Vidyapeeth Homoeopathic Medical College, Pune
  7. Naminath Homoeopathic Medical College Hospital and Research Centre, Agra
  8. Pandit Deendayal Upadhyay Memorial Health Sciences and AYUSH, Chhattisgarh University Raipur
  9. Calcutta Homeopathic Medical College and Hospital , Kolkata
  10. GD Memorial Homeopathic Medical College and Hospital , Patna

यदि आपको यह What is BHMS (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery) Course ? Information related to its subjects , qualifications and fees in Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला , तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook , Twitter और दुसरे Social Media Sites पर Share कीजिये |

You might also like
Leave a comment