Business

लेबोरेटरी बिज़नेस कैसे शुरु करे Laboratory Business Plan in India

लेबोरेटरी बिज़नेस कैसे शुरु करे Laboratory Business Plan in India | Laboratory Business India hindi

जैसा की हम जानते है की पहले Laboratory जैसी मूलभूत सुविधाएँ बड़े शहरों में उपलब्ध थी लेकिन अब ये छोटे शहरों और कस्बों में भी उपलब्ध है बहुत से लोग ये भी नहीं जानते की लेबोरेटरी होती क्या है और वहाँ पर क्या काम होता है आज हम इस पोस्ट में आपको इसी के बारे में बतायेंगे | साथ ही साथ हम आपको ये भी बतायेंगे की ये क्या होती है और आप अपने एरिया में इसे कैसे शुरू कर सकते है | आप को बता दे की लेबोरेटरी भिन्न भिन्न प्रकार की होती है और उनका काम भी अलग होता है जैसे की कुछ लैब इंसानों से संबंधित होती है जिनमे मानवीय बीमारियों से संबंधित रोगों का टेस्ट होता है , खाने पिने की वस्तुओ से संबंधित , मृदा संबंधित , सूक्ष्म जीवों से संबंधित , पशु – पक्षियों से संबंधित आदि

दिन भर दिन बढती बिमारियों की रोकथाम के लिए बड़े बड़े वैज्ञानिक भी इन्ही के अंदर उन बिमारियों पर टेस्ट करके  देखते है और उनके लिए उपचार खोजते है | लेकिन आज जो लेबोरेटरी खोलने के लिए जरुरी चीजों की आवश्यकता होती है वो हम इस पोस्ट में बतायेंगे | यह बिजनेस किस प्रकार से आपके लिए फायदेमंद हो सकता है इस बारे में हम आज की हमारी इस पोस्ट में बतायेंगे | Laboratory Business India hindi

लोअर टी शर्ट बनाने का बिजनेस

What is Laboratory ? लेबोरेटरी क्या होती है ?

एक कमरा या भवन जिसका उपयोग वैज्ञानिक अनुसंधान, परीक्षण, प्रयोग आदि के लिए या विज्ञान से सम्बंधित के बारे में कार्य/क्रियाकलाप  के लिए किया जाता है | Laboratory बहुत सी प्रकार की होती है जिनको उनके नाम से याद करना या पता करना आपके लिए काफी मुश्किल होता है तो उनको हम शोर्ट में याद कर लेते है जिस हम आसानी से समझ सकते है और किसी दुसरे को भी समझा सकते है | लेबोरेटरी 7 प्रकार की होती है :-

विश्लेषणात्मक और गुणवत्ता प्रयोगशालाएं  ( Analytical and Quality Laboratories )

विश्लेषणात्मक और गुणवत्ता प्रयोगशालाओं में products और materials का परीक्षण Specifications के अनुरूप और अशुद्धियों की अनुपस्थिति के खिलाफ किया जाता है। ये प्रयोगशालाएँ उत्पादन और आपूर्ति श्रृंखला के भीतर एक आवश्यक घटक बनाती हैं।

जैव सुरक्षा प्रयोगशालाएं ( Biosafety laboratories )

जैव सुरक्षा प्रयोगशालाओं और सुइट्स का उद्देश्य संभावित हानिकारक जैविक एजेंटों की रोकथाम है। रोकथाम विधियों, सुविधाओं और उपकरणों के एक विचारशील संयोजन के माध्यम से प्राप्त की जाती है। नियंत्रण का स्तर BSL1 से BSL4 के उच्चतम स्तर तक जाता है।

साफ-सुथरे कमरे ( Clean rooms )

सफाई कक्षों में हवा की मात्रा के अनुसार अनुमत धूल कणों की संख्या स्वच्छ कमरे के वर्गीकरण को परिभाषित करती है। लोगों और सामग्रियों के सभी पहलू प्रवाहित होते हैं, यांत्रिक प्रणाली और कमरे की फिनिश एक दूसरे के अनुरूप होनी चाहिए। डिजाइन और इंजीनियरिंग को “आईएसओ 14644-1” – “फेड एसटीडी 209ई” – “बीएस 5295” या “जीएमपी ईयू” वर्गीकरण का पालन करने की आवश्यकता है।

नैदानिक ​​और चिकित्सा प्रयोगशालाएं ( Diagnostic and Medical Laboratories )

ये प्रयोगशालाएं ऊतक, रक्त और अन्य रोगी नमूनों पर नैदानिक ​​परीक्षणों के लिए सुसज्जित हैं। उन्हें पीसीआर-प्रौद्योगिकियों के साथ पैथोलॉजी, सीरोलॉजी, हिस्टोलॉजी, वायरोलॉजी, बैक्टीरियोलॉजी और आणविक जीव विज्ञान जैसी विभिन्न प्रक्रियाओं में विभाजित किया जा सकता है।

इनक्यूबेटर प्रयोगशालाएं ( Incubator Laboratories )

सूक्ष्मजीवविज्ञानी, और कोशिका या ऊतक संवर्धन कार्य करने वाली प्रयोगशालाओं को इन संस्कृतियों को पर्यावरण से बचाने के लिए इनक्यूबेटरों की आवश्यकता होती है। तापमान, आर्द्रता, और O2 और CO2 स्तरों जैसे मापदंडों को नियंत्रित करने की आवश्यकता है।

उत्पादन प्रयोगशालाएं ( Production laboratories )

प्रायोगिक उत्पादन या छोटी मात्रा की प्रयोगशालाएं अनुसंधान एवं विकास और वाणिज्यिक उत्पादन के बीच स्केल-अप के रूप में, या नैदानिक ​​परीक्षणों के लिए उत्पादन के लिए, स्वयं एक श्रेणी बनाती हैं। ऐसी प्रयोगशालाएं फार्मास्युटिकल, बायोटेक और विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में पाई जा सकती हैं। अक्सर नियंत्रण और वायु गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

अनुसंधान एवं विकास (आर एंड डी) प्रयोगशालाएं ( Research & Development (R&D) Laboratories )

इस श्रेणी में विभिन्न जोखिम योग्यता और रोकथाम आवश्यकताओं के साथ प्रयोगशालाओं का एक व्यापक स्पेक्ट्रम शामिल है जैसे: पीबीओईएल, जैव सुरक्षा प्रयोगशालाएं, रेडियो-सक्रिय जोखिम वाली प्रयोगशालाएं इत्यादि। बीज, फसल, सामग्री और जीवन विज्ञान अनुसंधान के लिए विशेष प्रयोगशालाएं भी इसका हिस्सा हैं। Laboratory Business India hindi

ब्लाउज हुक बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करे

 Laboratory Business Plan के लिए जरूरी चीजे

 Laboratory business plan Requirements :- इस Business को शुरु करने के लिए बहुत सी चीजो को जरुरत पड़ती है  लेकिन जिस चीज की जरुरत Business  के आकार पर निर्भर करती है क्योकि ये बिज़नेस घर से शुरु कर सकते है या फिर कोई दुकान किराए पर लेके ये काम शुरु कर सकते है , हमें ये देखना जरूरी है की जिस जगह से हम यह काम शुरू कर रहें है वहाँ पर इतनी जगह हो की लेबोरेटरी से जुडी सभी मशीन आसानी से रखी जा सके और उन पर काम किया जा सके Laboratory Business India hindi

  • मशीनें
  • जगह ( Shop )
  • इन्वेस्टमेंट (Investment)
  • बिजली की सुविधा (Electricity, water facilities)
  • GST Number
  • डिप्लोमा ( Diploma )
  • लाइसेंस

 लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के लिए मशीन Laboratory business plan Hindi

 Laboratory business plan Hindi :- मानवीय बीमारियों के लिए खोली जाने वाली Laboratory में हम जिन मशीनों को उपयोग में लेंगे उनकी गुणवता अच्छी होनी चाहिए क्योंकि अच्छी गुणवत्ता वाली मशीन ही काम को बेहतर कर पाएंगी | Laboratory के लिए हमें अलग अलग तरह की मशीन की आवश्यकता होती है जैसे :- Test tube rack , Test tube , Syringe , Graduated cylinder , Dropper , Stethoscope , Thermometer , Barometer,  Speedometer, Balance scale,  Magnifier, Microscope, Telescope etc.

इसके साथ साथ और भी बहुत सी छोटी बड़ी मशीन होती है जिनकी जरूरत हमें लेबोरेटरी में होती है |यहाँ हम आपको बता दे की गुणवता के आधार पर लेबोरेटरी की मशीन अलग अलग तरह की होती है |

वेंडिंग मशीन बिज़नेस कैसे शुरू करें

लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के लिए जगह Space for Laboratory business plan

Space for Laboratory business plan :- लेबोरेटरी के लिए जगह का चुनाव सही ढंग से करना चाहिए क्योंकि Laboratory आज के समय में बढती बीमारियों के इलाज और उनके उपचार के लिए लोगों का टेस्ट करवाना और उसके हिसाब से दवाई लेना जरूरी सा हो गया है  , इसलिए जगह का चुनाव इसमें एक मुख्य हिस्सा है | Laboratory ऐसी जगह पर होनी चाहिए जहाँ से लोगो  की आवाजाही ज्यादा हो और सबको Laboratory के  बारे में पता चल सके और साथ साथ हम अपनी Laboratory ऐसी जगह भी खोल सकते है जहाँ आस पास में कोई सरकारी या निजी हॉस्पिटल , क्लिनिक  हो | Laboratory Business India hindi

क्योंकि ऐसी जगहों पर लोगों का दवाई लेने के लिए आना और डॉक्टर को चेकअप कराना और उनका परामर्श लेना आदि का काम रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चूका होता है | ऐसी जगह पर Laboratory करने से आपको इनकम में भी फायदा होगा | इसके साथ साथ आप हॉस्पिटल या क्लिनिक  जहाँ पर आपकी लेब है उनके लिए भी काम कर सकते है क्योंकि उनको अपने मरीज की बीमारी का पता करने के लिए टेस्ट कराने की आवश्यकता होती है |

 लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के लिए बिजली की सुविधा Electricity Facility For Laboratory Business Plan

Laboratory के लिए बिजली की आपूर्ति का होना अति आवश्यक है क्योकि Laboratory की मशीन और वहाँ  पर इस्तेमाल किये जाने वाले उपकरण  बिजली की supply के बिना नहीं चलाये जा सकते तो हमें इस बात का पूर्ण ध्यान रखना होगा की जितने समय तक हम Shop पर काम कर रहे हैं वहाँ पर बिजली की सप्लाई बाधित न हो  इसके लिए आप वहाँ पर इन्वर्टर लगवा सकते है | अतः बिजली आपूर्ति का पूर्ण प्रबंध होना चाहिए  |

ई-रिक्शा बिजनेस कैसे शुरु करे

लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के लिए इन्वेस्टमेंट Investment for Laboratory Business plan

अगर आपके पास आपकी खुद की कोई बेहतर जगह है  तो आप इसे वहाँ से शुरू कर सकते है लेकिन अगर आपके पास कोई जगह नहीं है तो आप इसके लिए कोई और जगह खरीद सकते है या किराए पर ले सकते है | अगर आपकी खुद की जगह है तो आपको कम इन्वेस्टमेंट करनी होगी और अगर जगह किराये पर लेते है या खरीदते है तो आपकी इन्वेस्टमेंट ज्यादा हो जाएगी इस पर | Laboratory Business India hindi

अगर आप कोई जगह किराये पर लेते है तो आपको इसके लिए अनुमानित 15 से 20 हजार रूपये किराया देना पड सकता है और जगह खरीदते है तो आपके इसके लिए उस जगह के किसी डीलर से बात करनी पड़ेगी  |

  • मशीन लागत :-  3 से 4 लाख रूपये
  • जगह :- किराया ( 25 से 30 हजार रूपये ) और खरीदने पर ( जिस जगह आप Laboratory खोलना चाहते है वहाँ के प्रॉपर्टी डीलर से बात करें )
  • बिजली बिल :- 15 से 20 हजार रूपये

कंप्यूटर असेम्बलिंग बिज़नेस कैसे शुरू करे

लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के लिए GST Number

Document For Laboratory business plan  :- कोई भी Business  शुरु करते है तो कुछ पर्सनल डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़ती है और कुछ Business  से सबंधित लाइसेंस की जरुरत पड़ती है जैसे :-

Personal Document (PD) :- Personal Document के अन्दर बहुत से डॉक्यूमेंट होते है जैसे :

  • ID Proof :- Aadhaar Card , Pan Card , Voter Card
  • Address Proof :- Ration Card , Electricity Bill ,
  • Bank Account With Passbook
  • Photograph Email ID , Phone Number ,
  • Other Document  

बिजनेस Document (PD)

  •  Registration
  • GST Number
  • License

प्लाईवुड बनाने का बिज़नेस कैसे शुरु करे

लेबोरेटरी बिजनेस प्लान के अन्दर प्रॉफिट Profit in Laboratory business plan

Profit Margin In Laboratory business plan :- इस बिज़नेस के अन्दर आप चार से पांच हजार रूपये प्रतिदिन के कमा सकते है और महीने के 35 से 40 हजार रूपये कमा सकते हैं | इस प्लान में इनकम की एक लिमिट बताना मुश्किल है क्योंकि इसमें आप कितना भी पैसा कमा सकते है   तो इस हिसाब से इस बिज़नेस के अन्दर अच्छे पैसे कमा सकते है यदि आपको अच्छी जगह मिल जाये तो और अच्छे पैसे कमा सकते है और जितनी ज्यादा काम उतना ज्यादा प्रॉफिट होगा | और कोसिस करे की ज्यादा से ज्यादा कस्टमर आये |

कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social Media Sites पर  Share कीजिये Laboratory business Plan Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button