स्टैंड-अप इंडिया स्‍कीम क्‍या है Stand-up India Scheme India

स्टैंड-अप इंडिया स्‍कीम क्‍या है Stand-up India Scheme India

Stand up India Scheme  :- इंडिया के अन्दर स्टार्टअप को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा दिया जा रहा है जिस से बिज़नेस ज्यादा से ज्यादा हो लोगो को रोजगार बढे और बेरोजगारी कम हो लेकिन सबसे बड़ी समस्या स्टार्टअप के लिए लोगो के पास पैसा नही है तभी बहुत से स्टार्टअप बंद हो जाते है इसके लिए सरकार बहुत ज्यादा कदम उठा रही है और स्कीम लेके आ  रही है

Stand-up India Scheme India

ऐसी ही एक स्कीम सरकार द्वारा चलाई गयी है जिसका नाम स्टैंड अप इंडिया योजना इस स्कीम के तहत महिला उद्यमियों और समाज के SC / ST वर्ग के तहत आने वाले लोगों को फंड मुहैया कराती है जिस से देश के अन्दर ज्यादा से ज्यादा स्टार्टअप हो और रोजगार ज्यादा से ज्यादा मिलेगा इस आर्टिकल में हम आपको Stand-up India Scheme के बारे में विस्तार से बतायेंगे |

‘फॉर्च्यून मार्ट’ स्टोर कैसे खोले

स्टैंड-अप इंडिया योजना – वर्ष 2022 Stand up India Scheme

स्टैंड अप इंडिया योजना कम से कम एक अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति, उधारकर्ता और प्रति बैंक शाखा में कम से कम एक महिला को ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने के लिए 10 लाख से 1 करोड़ के बीच बैंक ऋण की सुविधा प्रदान करती है। यह उद्यम विनिर्माण, सेवाओं या व्यापारिक क्षेत्र में हो सकता है। गैर-व्यक्तिगत उद्यमों के मामले में कम से कम 51% शेयरधारिता और नियंत्रण हिस्सेदारी किसी अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए। Stand up India Scheme

  • ब्याज दर = बैंक का MCLR + 3% + टेन्योर प्रीमियम
  • लोन अवधि = 7 महीने से 18 महीने तक
  • न्यूनतम आयु = SC / ST और महिला उद्यमी के लिए 18 वर्ष
  • लोन राशि = ₹ 10 लाख और ₹ 1 करोड़
  • लोन किसके लिए ऑफर किया जाता है = केवल ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट्स (पहली बार व्यवसाय खोलने)
  • शेयर = गैर-व्यक्तिगत उद्यमों के लिए 51%
  • आवेदक का भुगतान रिकॉर्ड = कभी भी बैंक या NBFC में डिफॉल्ट नहीं किया गया
  • मार्जिन = अधिकतम 25%
  • वर्किंग कैपिटल लिमिट = कैश क्रेडिट लिमिट के रूप में 10 लाख

स्टैंड-अप इंडिया योजना की विशेषताएं Stand up India Scheme

Features of Stand-up India Scheme :- 

  • लागू ब्याज दर उस श्रेणी के लिए बैंक द्वारा निर्धारित की जाती है, जो कि MCLR + 3% + टेन्योर प्रीमियम से अधिक होगी
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के लोगों और महिला आवेदकों के लिए स्टैंड अप योजना के तहत लोन प्राप्त करने के लिए न्यूनतम आयु मानदंड 18 वर्ष है
  • ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट्स के लिए लोन ऑफर केवल उन entrepreneurs के लिए किए जाते हैं
  • जो पहली बार मेन्यूफैक्चरिंग या व्यापारिक क्षेत्रों में Business कर रहे हैं
  • आवेदक का किसी भी बैंक या NBFC में डिफॉल्ट रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए
    कुल लोन राशि (जिसमें टर्म लोन और वर्किंग कैपिटल शामिल हैं ) 10 लाख रुपये 1 करोड़ रूपये के बीच ऑफर की जाती हैं
  • बैंकों द्वारा तय किए गए लोन को क्रेडिट गारंटी फंड योजना की गारंटी द्वारा सुरक्षित किया जा सकता है
  • SC / ST और महिला उद्यमियों के लिए लोन का उपयोग केवल व्यापार, सेवाओं और मेन्यूफैक्चरिंग में नए व्यवसाय स्थापित करने के लिए किया जा सकता है
  • लोन अवधि अधिकतम 7 साल है और अधिकतम मोराटोरियम पीरियड 18 महीने है

स्टैंड-अप इंडिया योजना आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • पहचान प्रमाण: पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, आदि।
  • निवास प्रमाण: मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, नवीनतम बिजली और टेलीफोन बिल, प्रॉपर्टी टैक्स की रसीद, आदि।
  • व्यवसाय का पता प्रमाण
  • कंपनी के मेमोरेंडम ऑफ ऐसोसिएशन
  • पार्टनरशिप डीड
  • पट्टे की फोटोकॉपी
  • रेंट एग्रीमेंट
  • पिछले 3 साल की बैलेंस शीट
  • प्रमोटर और गारंटी के एसेट्स और लाइबिलिटी स्टेटमेंट

स्टैंड-अप इंडिया योजना आवेदन के लिए पात्रता

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी, जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है।
  • योजना के तहत ऋण केवल ग्रीन फील्ड परियोजना के लिए उपलब्ध है। ग्रीन फील्ड, इस संदर्भ में, निर्माण या सेवाओं या व्यापार क्षेत्र में लाभार्थी के पहली बार उद्यम का प्रतीक है।
  • गैर-व्यक्तिगत उद्यमों के मामले में, 51% शेयरधारिता और नियंत्रण हिस्सेदारी अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।
  • ऋणी किसी भी बैंक/वित्तीय संस्थान में चूककर्ता नहीं होना चाहिए। Stand up India Scheme

अग्निपथ योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन

स्टैंड-अप इंडिया योजना डिटेल्स  Stand-up india Scheme Details

  • ऋण की प्रकृति Nature of Loan – 10 लाख से 100 लाख तक का समग्र ऋण (सावधि ऋण और कार्यशील पूंजी सहित)।
  • ऋण का उद्देश्य Purpose of loan – अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / महिला उद्यमी द्वारा विनिर्माण, व्यापार या सेवा क्षेत्र में एक नया उद्यम स्थापित करने के लिए।
  • ऋण का आकार Loan Size – सावधि ऋण और कार्यशील पूंजी सहित परियोजना लागत का 75% का समग्र ऋण। परियोजना लागत के 75% को कवर करने के लिए ऋण की शर्त लागू नहीं होगी यदि किसी अन्य योजना से अभिसरण समर्थन के साथ उधारकर्ता का योगदान परियोजना लागत के 25% से अधिक हो।
  • ब्याज दर Rate of Interest – ब्याज दर उस श्रेणी (रेटिंग श्रेणी) के लिए बैंक की न्यूनतम लागू दर होगी जो (आधार दर (एमसीएलआर) + 3% + अवधि प्रीमियम) से अधिक नहीं होगी।
  • सुरक्षा Security – प्राथमिक सुरक्षा के अलावा, बैंकों द्वारा तय किए गए स्टैंड-अप इंडिया लोन (सीजीएफएसआईएल) के लिए संपार्श्विक सुरक्षा या क्रेडिट गारंटी फंड योजना की गारंटी द्वारा ऋण सुरक्षित किया जा सकता है।
  • चुकौती – ऋण 7 वर्षों में चुकाने योग्य है और अधिकतम 18 महीने की अधिस्थगन अवधि है।
  • कार्यशील पूंजी Working Capital – 10 लाख तक की कार्यशील पूंजी के आहरण के लिए, इसे ओवरड्राफ्ट के माध्यम से स्वीकृत किया जा सकता है। उधारकर्ता की सुविधा के लिए रुपे डेबिट कार्ड जारी किया जाएगा। 10 लाख से अधिक की कार्यशील पूंजी की सीमा नकद ऋण सीमा के रूप में स्वीकृत की जाएगी।
  • मार्जिन मनी Margin Money – इस योजना में 15% मार्जिन मनी की परिकल्पना की गई है जिसे पात्र केंद्र / राज्य योजनाओं के साथ अभिसरण में प्रदान किया जा सकता है। जबकि ऐसी योजनाओं को स्वीकार्य सब्सिडी प्राप्त करने या मार्जिन मनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए तैयार किया जा सकता है, सभी मामलों में, उधारकर्ता को परियोजना लागत का न्यूनतम 10% स्वयं के योगदान के रूप में लाना होगा।

स्टैंड-अप इंडिया योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे

स्टेप 1: स्टैंड-अप इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट ‘ https://www.standupmitra.in/Login/Register ‘ पर जाएं

स्टेप 2: सबसे पहले व्यावसायिक कॉलम में प्रवेश करके रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें जिसमें व्यवसाय का पता, राज्य, जिला, गांव, शहर, शहर और पिन कोड शामिल हों

स्टेप 3: चुनें कि क्या प्रमोटर महिला वर्ग या SC / ST वर्ग से संबंधित है और व्यापार में 51% या उससे अधिक हिस्सेदारी है

स्टेप 4: आवेदक की योजना, व्यवसाय की प्रकृति, लोन राशि, व्यवसाय गतिविधि की प्रकृति और जानकारी, व्यवसाय के लिए स्थान की स्थिति व पहली बार उद्यमियों की ड्रॉप डाउन को चुनें

स्टेप 5: आगे उसे व्यावसायिक गतिविधि, व्यवसाय के अनुभव और प्रकृति के वर्षों का उल्लेख करके अपने पिछले व्यवसाय के अनुभव की जानकारी देनी होगी

स्टेप 6: इच्छानुसार हेंड होल्डिंग सपोर्ट पर टिक करें

स्टेप 7: रजिस्ट्रेशन का अंतिम स्टेप आवेदक की व्यक्तिगत जानकारी के बारे में है जो नाम, उद्यम का नाम, यूज़र नेम, मोबाइल नंबर, ईमेल आदि

स्टेप 8: रजिस्टर पर क्लिक करके आवेदक संबंधित लोन संस्थान में स्टैंड-अप इंडिया योजना के लिए आवेदन कर सकेगा और उनके अधिकारी आगे की औपचारिकताओं के लिए संपर्क करेंगे

यदि आपको यह Stand-up India Scheme Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये |

 

You might also like
Leave a comment