बी टेक कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बी टेक कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी What is B.Tech Course ? Information related to its Subject , Qualification and Fees | B.tech Course Details Hindi

B.Tech Course एक बहुत ही Popular Engineering Course है | जिस के लिए बहुत सारे स्टूडेंट्स हैं , जो की 12वीं पास करने के बाद इस कोर्स को करना चाहते हैं और इस कोर्स में ही अपना करियर बनाना चाहते है लेकिन उससे पहले जानना जरुरी है की आखिर B.Tech Course क्या है ? इसे करने के क्या क्या फायदे हैं , इसके लिए क्या योग्यता चाहिए उसके बाद जानेंगे

B.tech Course Details Hindi

की कैसे आप इस कोर्स को कर सकते है और कैसे अप्लाई (Apply) कर सकते है बी टेक कोर्स (B.Tech Course) के लिए | आज की हमारी इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बी.टेक करने से सम्बंधित सभी जानकारी देंगे | B.tech Course Details Hindi

बीएससी क्या है और इसके प्रकार , सब्जेक्ट्स और योग्यता पूरी जानकारी

बी.टेक कोर्स क्या है ? B.tech Course Details

B.Tech जिसका Full Form Bachelor of Technology होता है जिसे Short में B.Tech कहा जाता है ये एक Bachelor Engineering Degree Course है जो की 4 साल का होता है इंडिया में अगर आप को Computer Engineering करनी है या Civil Engineer बनना है तो आप B.Tech Course के लिए Apply कर सकते है | इसमें बहुत सारे कोर्स होते हैं

जिनसे आप बी टेक कोर्स ( B.Tech Course) कर सकते हैं | B.Tech में आपको जिस भी सब्जेक्ट में इंजीनियरिंग करनी है तो आप उसी B.Tech Course के लिए अप्लाई कर सकते है | इस के जैसा ही एक और कोर्स होता है जिसका नाम है अभियांत्रिकी स्नातक ( Bachelor of engineering )B.E यह भी उसके जैसा ही कोर्स है जिस से आप Engineering की Degree प्राप्त कर सकते है | B.tech Course Details Hindi

बी.टेक कोर्स कैसे करे ?

बी.टेक एक Engineering कोर्स होता है जिसको आप किसी इंजीनियरिंग कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ही कर सकते है | आपको बता दें की बी.टेक में बहुत सारे कोर्स होते है और सभी अलग अलग सब्जेक्ट और स्ट्रीम में होते हैं | अगर आपको एक बेहतर और कामयाब इंजिनियर बनना है तो आपको अधिक से अधिक मेहनत करनी होगी क्योंकि इसका सिलेबस कठिन होता है |

बी.टेक कोर्स ( B.Tech Course ) करने के लिए अगर आप डायरेक्ट एडमिशन करवाना चाहते हैं तो आपको डोनेशन देना होगा लेकिन अगर आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के इच्छुक हैं तो इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) क्लियर करना होगा | अगर आप इसे प्राइवेट कॉलेज से करते हैं तो आपको बता दें की इसमें खर्चा बहुत ज्यादा आएगा , लेकिन गवर्मेंट कॉलेज में आपको कम पैसों में काम चल जायेगा | आपको इस बात का तो पता ही होगा की सभी कॉलेज की फीस (Fees) अलग अलग होती है और उसमें भी कोर्स के हिसाब से ऊपर नीचे होती है | अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज से बी टेक करना चाहते हो इसमें आपको कम से कम 1 साल की फीस लगभग 1 लाख के आस पास होगी |

बीए कोर्स क्या है और इसके प्रकार , सब्जेक्ट्स और योग्यता पूरी जानकारी

बी.टेक के कुछ प्रसिद्ध कोर्स –

  1. Electrical Engineering :- इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का क्षेत्र काफी प्रसिद्ध  क्षेत्रों में से एक माना गया है और इसमें Electric Circuit और नवीन उपकरणों के बारे में गहन अध्ययन शामिल किया जाता है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जो Electricity , Electronics और Electro Magnetism का उपयोग करने वाले Devices और Technics के अध्ययन , Design और अनुप्रयोग से संबंधित है।  कोर्सिज़ के स्तर के बावजूद यहां कुछ विषय हैं जिनका उम्मीदवारों को कार्यक्रम में अध्ययन करना होगा- Control System , Instumentation ,  Electro Magnetism , Circuit Analysis , Micro-Processor Interfacing। यह क्षेत्र बिजली के उपकरणों के साथ गहन काम करता है जिसमें Manufacturing , Designing , Operating Power Plants , Computer Chips के साथ-साथ Space Craft , Automobile आदि के Ignition System शामिल हैं।
  2. Civil Engineering :- सिविल इंजीनियरिंग, संरचनात्मक कार्यों को डिजाइन करने और निष्पादित करने का पेशा जो आम जनता की सेवा करता है, जैसे Dams , Bridges , Aqueducts , Canals , Highways , Power Plants , Sewerage Systems और अन्य Infrastructure। इस शब्द का इस्तेमाल पहली बार 18 वीं शताब्दी में सैन्य इंजीनियरिंग से नए मान्यता प्राप्त पेशे को अलग करने के लिए किया गया था , जब तक यह प्रमुख रूप से अलग कोर्स या डिग्री में नहीं था।
  3. Mechanical Engineering :- मैकेनिकल इंजीनियरिंग , Engineering की सबसे पुरानी और बड़ी शाखाओं में से एक है | Mechanical Engineering के अंतर्गत विद्यार्थी मशीनों की बनावट निर्माण आदि के बारे में अध्ययन करता है | Mechanical Engineering के अंतर्गत विद्यार्थी मशीनों के बारे में पूरी जानकारी पा लेते है | Mechanical Engineering दुनिया की सबसे पुरानी इंजीनियरिंग शाखा है | क्योंकि मैकेनिकल उपकरणों का अविष्कार सबसे पहले होना शुरू हो गया था इसके लिए किसी तरह की बिजली या किसी अन्य वस्तु की जरुरत नहीं पड़ती थी | इसीलिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग की शाखा बहुत बड़ी है और बहुत ही पुरानी है |
  4. Petroleum Engineering :-  इंजीनियरिंग की बेहद प्रसिद्ध स्ट्रीम्स के अलावा कुछ और भी स्ट्रीम्स हैं , जिनमें अच्छा भविष्य है , इनमें से ऐसी ही एक स्ट्रीम है पेट्रोलियम इंजीनियरिंग की। Petroleum Engineering , इंजीनियरिंग कोर्स की ऐसी शाखा है , जो हाइड्रोकार्बन जैसे कच्चे तेल या प्राकृतिक गैस के उत्पादन के अध्ययन से संबंधित है। पेट्रोलियम इंजीनियर तेल और गैस के उत्पादन और खोज से संबंधित कार्य करते हैं।
  5. Information Technology :- The Macmillan Dictionary of Information Technology में सूचना प्रौद्योगिकी को परिभाषित करते हुए यह विचार व्यक्त किया गया है कि Computing और Telecommunications के Combination पर आधारित Micro-Electronics द्वारा मौखिक , चित्रात्मक , मूलपाठ विषयक और संख्या संबंधी सूचना का अर्जन , संसाधन, भंडारण और प्रसार है। Information Technology , Scientific , Technological और Engineering Subjects है। सूचना की प्रोसेसिंग और उनके अनुप्रयोग की प्रबंध तकनीकें है। कंप्यूटर और उनकी मानव तथा मशीन के साथ अंत:क्रिया एवं संबद्ध सामाजिक, आर्थिक तथा सांस्कृतिक विषय।
  6. Computer Science Engineering :- पहले के समय में जब सब कुछ कलम और कॉपी के द्वारा ही संभव हो पाता था लेकिन वर्तमान के समय में कंप्यूटर ही सब कुछ हैं और कंप्यूटर के क्षेत्र में जाने के लिए ही Computer Engineering विषय का चयन किया जाता हैं | Engineering का मतलब होता हैं किसी खास क्षेत्र में पूर्ण जानकारी रखने वाले लोग को इंजीनियर यानी कि अभियंता कहते हैं | Computer Science Engineering का मतलब एक-एक करके समझा जाए तो कंप्यूटर का मतलब होता है गणना करने वाली मशीन और साइंस का मतलब होता है विज्ञान | Computer Science Engineering एक कोर्स हैं जिसमें कंप्यूटर के बारे में जानकारी दी जाती हैं यानी कि कंप्यूटर के बारे में जानकारी प्राप्त करना होता हैं | कंप्यूटर पूरी तरह से एक गणितीय एवं विज्ञान के कार्यप्रणाली के ऊपर कार्य करता हैं और इस क्षेत्र में जानकारी प्राप्त करने के लिए Computer science engineering का कोर्स किया जाता हैं |
  7. Aerospace Engineering :- अंतरिक्ष इंजीनियरिंग (Aerospace Engineering) में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग अंतरिक्ष यान , मिसाइल और हथियार प्रणालियों के डिजाइन , निर्माण और रखरखाव के लिए कौशल और ज्ञान को विकसित करती है।  Aerospace Engineering दो प्रमुख और अतिव्यापी शाखाओं से संबंधित है – Aeronautical Engineering और Astronautical Engineering।हालांकि, Avionics Engineering , Aerospace Engineering के Electronic side से संबंधित है। Aerospace Engineering के एक बड़े हिस्से में मैकेनिकल इंजीनियरिंग शामिल है |छात्रों की समीक्षा के अनुसार, Aerospace Engineering को इंजीनियरिंग की सबसे कठिन शाखाओं में से एक माना जाता है। हालांकि, अगर समर्पण और फोकस के साथ अंतरिक्ष इंजीनियरिंग (Aerospace Engineering) का अध्ययन किया जाता है इसको करने के बाद आप एक अच्छी नौकरी के हक़दार हो सकते है। Aerospace Engineering के लिए चयन करने वाले छात्र वायु सेना में एक फ्लाइट इंजीनियर के रूप में , विमानन उद्योग में एक एयरक्राफ्ट इंजीनियर के साथ-साथ निजी या राष्ट्रीय वाहक के रूप में अपना उज्ज्वल करियर बना सकते हैं। B.tech Course Details Hindi
  8. Electronic and Communication Engineering :- इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग की वह शाखा है जिस के अंतर्गत Electronic Device Circuit और Communication Devices जैसे Transmeter Reciever Intigrated Circuit के बारे में अध्ययन करवाया जाता है | इस इंजीनियरिंग के अंतर्गत आपको Basic Electronic Analogue और Digital Transmission और Data Reception , MicroProcessor Satellite Communication Microwave Engineering , Antenna और Wave Progression के बारे में भी बताया जाता है | इस इंजीनियरिंग के अंतर्गत आपको उन सभी उपकरण के बारे में बताया जाता है जो कि Electronic और Communication के लिए इस्तेमाल की जाती है |
  9. Environmental Engineering :- पर्यावरण इंजीनियरिंग , पर्यावरण (हवा, पानी और/या भूमि संसाधनों) में सुधार करने  , मानव निवास और अन्य जीवों के लिए स्वच्छ जल , वायु और ज़मीन प्रदान करने और प्रदूषित स्थानों को सुधारने के लिए विज्ञान और इंजीनियरिंग के सिद्धांतों का अनुप्रयोग है। पर्यावरण इंजीनियरिंग में शामिल हैं जल और वायु प्रदूषण नियंत्रण , पुनरावर्तन , अपशिष्ट निपटान और सार्वजनिक स्वास्थ्य के मुद्दे और साथ ही साथ पर्यावरण इंजीनियरिंग कानून से संबंधित ज्ञान | इसमें प्रस्तावित निर्माण परियोजनाओं के पर्यावरणीय प्रभाव पर अध्ययन भी शामिल है। B.tech Course Details Hindi
  10. Agricultural Engineering :- एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग भी इंजीनियरिंग की ही एक ब्रांच है। इसमें कृषि उपकरणों और कृषि क्षेत्र में काम आने वाली मशीनरी के निर्माण, डिजाइन और सुधार से संबंधित कार्य किया जाता है। एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में अधिक कुशलता से काम करने के लिए नए और परिष्कृत कृषि उपकरण डिजाइन किया जाता है। एग्रीकल्चर इंजीनियरों की प्रमुख भूमिका बेहतर इंजीनियरिंग विधियों , आविष्कारों , प्रौद्योगिकी और उपकरणों के माध्यम से कृषि उत्पादन में सुधार करना है। जिससे फसल उत्पादन को बेहतर बना कर किसान और अधिक मुनाफा कमा सकें। B.tech Course Details Hindi

बीकॉम कोर्स और बीकॉम ऑनर्स क्या है और इसके प्रकार , सब्जेक्ट्स और योग्यता पूरी जानकारी

बी.टेक के लिए शैक्षणिक योग्यता – B.tech Course Details Hindi

  • 12वीं ( PCM से ) Physics , Chemistry और Maths सब्जेक्ट से पास होनी चाहिए |
  • 12वी में कम से कम 60% मार्क्स होने चाहिए , बी टेक के एंट्रेंस एग्जाम में बैठने के लिए तभी आपको एक अच्छा कॉलेज (College) मिलेगा |

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के अंतर्गत प्रवेश परीक्षा

  • IIT-JAM (Indian Institute of Technology-Joint Entrance Examination)
  • All India Engineering Entrance Exam
  • Institute of Technology BHU Entrance Exam
  • Indian Institute of Technology, Joint Entrance Exam
  • National Institute of Technology, Combined Pre-Entrance Test
  • Gujarat Common Entrance Test
  • Kerala Engineering Agriculture Medical (KEAM)
  • Maharashtra Common Entrance Test (MHCET)
  • Graduate Aptitude Test in Engineering (GATE)
  • North Eastern Regional Institute of Science and Technology Entrance Exam

जिला कलेक्टर कौन होता है | जिला कलेक्टर बनने के लिए एग्जाम की तैयारी कैसे करें 

बी.टेक के बाद शैक्षिक विकल्प – B.tech Course Details Hindi 

बीटेक करने के बाद स्टूडेंट्स के पास दो ऑप्शन होते हैं। या तो आप जॉब कर सकते हैं या आगे पढाई जारी रख सकते हैं। अगर आप पढाई जारी रखना चाहते हैं तो आप आगे अलग अलग Higher Education के लिए एंट्रेस एग्जाम्स देकर निम्न कोर्सेज के साथ पढाई जारी रख सकते हैं :-

  • M.Tech
  • MBA
  • MS
  • Foreign Universities for Higher Studies
  • Diploma Courses

यदि आपको यह What is B.Tech Course ? Information related to its Subject , Qualification and Fees in Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला , तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook , Twitter और दुसरे Social Media Sites पर Share कीजिये |

You might also like
Leave a comment