career

बीएसएमएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएसएमएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी What is BSMS Degree course ? Information related to its subjects , qualifications and fees | BSMS Degree course hindi

About BSMS :- BSMS की Full Form “Bachelor of Siddha Medicine and Surgery” है , यह एक Under Graduate Level का Course है , जो आयुष (आयुर्वेद , योग और प्राकृतिक चिकित्सा , यूनानी , सिद्ध और होम्योपैथी) प्रणालियों में सबसे पुराना माना जाता है। सिद्ध साक्षात्कार के मुताबिक , मानव शरीर की मनोवैज्ञानिक और शारीरिक प्रक्रियाओं को सात तत्वों द्वारा संयत किया जाता है|

सरम (प्लाज्मा-Plasma ), पनीर (रक्त-Blood) , ऊन (मांसपेशी-Muscle), कोझुप्पु (वसा-Fat), एलुम्बु (हड्डी-Bone) , मूलई (तंत्रिका-Nerve), और इनथिरियम (वीर्य-Semen)। तीन मुक्कुट्ट्रम – वात (वायु), पीठ (अग्नि या ऊष्मा या ऊर्जा), और कफ (जल) – इन सात तत्वों (जल) को क्रियाशील करते हैं। इनमें से कोई भी मुक्कुट्ट्रम जो संतुलन से बाहर होता है वह बीमारी का कारण बनता है, और सिद्ध चिकित्सा प्रणाली स्वस्थ जीवन के लिए विकृत मुक्कुट्टम को ठीक करती है। 

बीएएमएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएसएमएस के लिए योग्यता –

उम्मीदवार जो BSMS कार्यक्रम में सम्मिलित होना चाहते हैं उन्हें निम्न न्यूनतम योग्यताओं को पूरा करना करना जरूरी है :

  • सिद्ध मेडिसिन एंड सर्जरी में स्नातक के लिए उम्मीदवारों का न्यूनतम उम्र 17 वर्ष होना आवश्यक है |
  • BSMS के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से न्यूनतम 50% अंकों के साथ 10+2 साइंस स्ट्रीम से उत्तीर्ण होना जरूरी है |
  • उम्मीदवार के विषय में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान में न्यूनतम 50% से कम अंक होने पर आवेदन नहीं कर सकते हैं | 
  • आरक्षित उम्मीदवार को नियमों के अनुसार प्रवेश के लिए अंकों में छूट प्राप्त कर सकते हैं।
  • HSC परीक्षा उम्मीदवारों द्वारा पहले प्रयास में उत्तीर्ण होनी चाहिए।
  • आयुष मंत्रालय निर्दिष्ट करता है कि BSMS योग्यतता के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना भी जरूरी है।

बीएसएमएस कोर्स फीस कितनी होती है ? BSMS Degree course hindi

उम्मीदवार BSMS कोर्स के लिए सरकारी और निजी स्वामित्व वाले दोनों संस्थाओं में नामांकन ले सकते हैं। सरकार द्वारा संचालित संस्थान में पढ़ने के लिए कम पैसे खर्च होंगे जबकि इसी कोर्स को निजी कॉलेज से करेंगे तो हमें सरकारी संस्थान के तुलना में काफी ज्यादा पैसे लगेंगे | अगर सालाना तौर पर एवरेज फीस निकाल कर देखी जाए तो एक उम्मीदवार की फीस लगभग 50,000 से लेकर 3,00,000 रूपये तक हो सकती है | इसलिए आपको इसमें एडमिशन लेने से पहले इस कोर्स सम्बंधित जानकारियों के साथ साथ इसकी फीस से सम्बंधित जानकारी का भी पता कर लेना चाहिए |

बी एच एम एस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएसएमएस कोर्स के लिए आवेदन कैसे करें ?

आवेदकों को BSMS कोर्स में आवेदन करने की आवेदन प्रक्रिया पता होनी चाहिए। यहां उम्मीदवार पंजीकरण दिशानिर्देश BSMS पाठ्यक्रम प्रवेश की जांच कर सकते हैं:

  • सबसे पहले आवेदकों को ऊपर लिखे योग्यता शर्तों को पूरा करना होगा।
  • आवेदकों को न्यूनतम योग्यता अंकों के भीतर NEET परीक्षा के लिए योग्यता प्राप्त करनी होगी।
  • NEET  के योग्य उम्मीदवारों को BSMS पाठ्यक्रम में आवेदन के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेना होता है।
  • आवेदकों को यह निर्दिष्ट करना महत्वपूर्ण है कि आयुष यूजी पाठ्यक्रमों के लिए परामर्श आयुष मंत्रालय और संबंधित राज्यों द्वारा आयोजित किया जाएगा।
  • आयुष मंत्रालय 15% अखिल भारतीय कोटा सीटों के लिए काउंसलिंग आयोजित करेगा जबकि राज्य 85% राज्य कोटे की सीटों का आयोजन करेगा।
  • आवेदकों को संबंधित परामर्श प्राधिकरण की आधिकारिक वेबसाइट तक पहुंचना होगा।
  • पंजीकरण विवरण भरें और सुनिश्चित करें कि NEET रोल नंबर, NEET स्कोर, पाठ्यक्रम और कॉलेज आदि विवरण सही होना चाहिए।
  • सुरक्षा जमा सहित पंजीकरण शुल्क का भुगतान करें क्योंकि यह एक अनिवार्य आवश्यकता है।
  • वरीयता के क्रम में सिद्ध कॉलेजों के विकल्प भरें।
  • निर्देशों के अनुसार विकल्पों को लॉक करना न भूलें।
  • भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदन पत्र और शुल्क रसीद की एक प्रति अपने पास रखने की सिफारिश की जाती है।

बीएसएमएस में कौन कौन से विषय होते हैं ?

उम्मीदवारों द्वारा BSMS कोर्स में पढ़ने वाले विषयों की सूची इस प्रकार है :

  • आधुनिक पैथोलॉजी (Modern Pathology)
  • सिद्ध पैथोलॉजी (Siddha Pathology)
  • प्रसूति एवं स्त्री रोग (Obstetrics and Gynecology)
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीतियां और अनुसंधान (National Health Policies and Research)
  • विष विज्ञान और फोरेंसिक (Toxicology and Forensics)
  • सिद्ध मेडिसिन फंडामेंटल्स (Siddha Medicine Fundamentals)
  • फार्माकोग्नॉसी (Pharmacognosy )
  • चिकित्सा सांख्यिकी की रिपोर्ट (Report of Medical Statistics)
  • औषधीय वनस्पति विज्ञान (medicinal botany)
  • वर्म थेरेपी (Worm Therapy)
  • अनुसंधान क्रियाविधि (Research Methodology)
  • सामुदायिक चिकित्सा और स्वच्छता (Community Medicine and Hygiene)

एम आर्क कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएसएमएस का सिलेबस –

नीचे BSMS सिलेबस विवरण को विस्तार से बताया गया है सभी विषयों को पास करने के बाद, छात्रों को एक अनिवार्य इंटर्नशिप कार्यक्रम में शामिल होना होता है। इंटर्नशिप की अवधि एक साल की होगी। BSMS सिलेबस इस प्रकार है : BSMS Degree course hindi 

प्रथम वर्ष का सिलेबस:

  • सिद्ध चिकित्सा का इतिहास और मौलिक सिद्धांत
  • जैव-रसायन विज्ञान
  • औषधीय वनस्पति विज्ञान और भेषज विज्ञान
  • सूक्ष्म जीव विज्ञान

दूसरा वर्ष का सिलेबस:

  • पेपर -I एनाटॉमी
  • पेपर -II एनाटॉमी
  • पेपर -I फिजियोलॉजी
  • पेपर -II फिजियोलॉजी
  • सिद्ध औषधीय हर्बल विज्ञान
  • सिद्ध औषधीय भूविज्ञान, औषधीय रसायन विज्ञान और औषधीय जूलॉजी

तीसरा वर्ष का सिलेबस:

  • पेपर -I सिद्ध पैथोलॉजी
  • पेपर- II आधुनिक विकृति विज्ञान के सिद्धांत
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीतियों और सांख्यिकी सहित स्वच्छता और सामुदायिक चिकित्सा
  • फोरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी
  • अनुसंधान पद्धति और चिकित्सा-सांख्यिकी

चौथा वर्ष का सिलेबस:

  • चिकित्सा
  • वर्मम थेरेपी, बाहरी थेरेपी और विशेष दवा
  • दंत चिकित्सा और त्वचाविज्ञान सहित सर्जरी
  • प्रसूति एवं स्त्री रोग
  • बाल रोग

बीएसएमएस कोर्स के बाद वेतन – BSMS Degree course hindi

किसी भी कोर्स की को करने के बाद जब आप उस क्षेत्र में जॉब ढूंढते हैं तो आपको उसका वेतन आपके अनुभव के आधार पर दिया जाता है की आप को कितने वर्ष का अनुभव है या फिर आप ने जब यह कोर्स किया उस समय आपका परीक्षा प्रणाम या आपको इस से सम्बंधित कितना ज्ञान था | बीएसएमएस कोर्स के बाद एक उम्मीदवार का शरुआती वेतन लगभग 1,50,000 से लेकर  6,00,000  रु.प्रति वर्ष हो सकता है| यह एक अनुमान वेतन के तौर पर बताया जा रहा है लेकिन अनुभव होने पर इससे भी ज्यादा वेतन की सम्भावना हो जाती है | अपने कार्य क्षेत्र में वेतन बढ़ाने और पदोन्नति होना बहुत आवश्यक है |

बीपीटी डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

बीएसएमएस के लिए शीर्ष कॉलेज –

विद्यार्थीयों के लिए भारत में कई BSMS कॉलेज पढ़ने के लिए मौजूद हैं। देश के शीर्ष BSMS कॉलेज निम्नलिखित हैं:

  • श्री साईराम मेडिकल कॉलेज – चेन्नई
  • वेलुमैलु मेडिकल कॉलेज – श्रीपेरुंबुदुर
  • RVS मेडिकल कॉलेज – कोयंबटूर
  • मध्य प्रदेश चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय – जबलपुर
  • ATSVS मेडिकल कॉलेज – कन्याकुमारी
  • शांतिगिरी मेडिकल कॉलेज – तिरुवनंतपुरम
  • राष्ट्रीय संस्थान – चेन्नई
  • MGR मेडिकल यूनिवर्सिटी – चेन्नई

बीएसएमएस कोर्स के बाद क्या करें ? BSMS Degree course hindi

  • अपना खुद का क्लिनिक शुरू करें (Start your own Clinic)
  • किसी भी सिद्ध मेडिकल कॉलेज में व्याख्याता (Lecturer in any Siddha Medical College)
  • सरकारी अस्पताल में सरकारी सिद्ध चिकित्सक (Government Siddha Doctor in Government hospital)
  • निजी अस्पताल में सिद्ध डॉक्टर (Siddha Doctor in Private hospital)
  • अस्पताल प्रबंधन / प्रशासन (Hospital Management / Administration)
  • नैदानिक अनुसंधान क्षेत्र (Clinical Research field)
  • मेडिकल अधिकारी (Medical Officer)
  • चिकित्सा सलाहकार (Medical consultant)

बीयूएमएस डिग्री कोर्स क्या है ? इसके सब्जेक्ट , योग्यता और फीस सम्बन्धी जानकारी

यदि आपको यह What is BSMS (Bachelor of Sidhha Medicine and Surgery) Course ? Information related to its subjects , qualifications and fees in Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला , तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook , Twitter और दुसरे Social Media Sites पर Share कीजिये |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button