Business

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस कैसे शुरू करें How to Start Stone Crushing Business

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस कैसे शुरू करें How to Start Stone Crushing Business Hindi

आज कोई भी स्कूल , कॉलेज , कार्यालय या कोई भी बिल्डिंग हो भवन हो  कंस्ट्रक्शन कार्य हो उस को बनाने के लिए बहुत सी चीजे है जिनका इस्तेमाल किया जाता है जैसे की सीमेंट , क्रेशेर , सरिया आदि  | इन सब में एक क्रेशर भी है जो की निर्माण कार्यों में बहुत बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है | Stone Crusher का उपयोग सड़क निर्माण में , पुलों के निर्माण में , औद्योगिक भवनों के निर्माण कार्य में , आवासीय भवनों के निर्माण में और अन्य कार्य जो की सीमेंट उत्पादों से जुड़े है जैसे  जैसे पीएससी पोल और बीम इत्यादि के निर्माण में किया जाता है। इसलिए इस तरह की इकाई को कहीं से भी शुरू करके अच्छी खासी कमाई की जा सकती है। यह मार्केट में अनेकों साइज़ जैसे 35mm, 20mm, 12mm इत्यादि में उपलब्ध रहता है ।

बैंक्वेट हॉल बिजनेस कैसे शुरू करें

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस क्या है ? Stone Crushing Business Hindi

क्रेशर , एक ऐसी सामग्री है जिसका उपयोग लगभग हर प्रकार के कंस्ट्रक्शन फिर चाहे वह कोई सड़क हो , पुल हो या फिर बिल्डिंग हो जिसके निर्माण में क्रेशर का इस्तेमाल किया जाता है । ग्रेनाइट एवं चूना पत्थरों को कच्चे माल के तौर पर उपयोग में लाकर इसका निर्माण किया जाता है। आप ऐसे क्षेत्र में इसका बिजनेस कर सकते हैं जहाँ इस प्रकार के पत्थरों की अधिकता हो | आप चाहे तो वहाँ पर Stone Crusher Plant लगा सकते हैं | कंस्ट्रक्शन की आवश्यकता को देखते हुए जब किसी उद्यमी द्वारा स्टोन क्रेशिंग का निर्माण कार्य किया जाता है तो उसे Stone Crusher बनाने का बिज़नेस कहा जाता है।

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरी चीजें

Requirements for Stone Crushing Business :- कोई भी बिजनेस हो फिर वह चाहे बड़े स्तर का हो या छोटे स्तर का उनको शुरू करने से पहले उनसे संबंधित बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है | छोटे या बड़े स्तर के बिजनेस के लिए आपके पास क्या क्या होना चाहिए | इस सब में आप कितना इन्वेस्ट करेंगे और उसके बाद इस से आप कितना मुनाफा कमाएंगे | आपके लिए इन सब बातों को जानना बहुत जरूरी है क्योंकि ये सब जानकारी आपके लिए आपको बिजनेस शुरू करने में काफी फायदेमंद होगी :

  • जगह ( Shop )
  • मशीन ( Machines )
  • कच्चा माल ( Raw Material )
  • इन्वेस्टमेंट (Investment)
  • कर्मचारी ( Worker )
  • GST Number
  • मार्केटिंग ( Marketing )
  • प्रॉफिट ( Profit )

एयर बबल शीट बनाने का बिजनेस

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए जगह

Space for Stone Crushing Business :- कोई भी बिजनेस शुरू करते  है तो हम उसमे सबसे पहले जगह के लिए उपयुक्त लोकेशन का चयन करते है |आज की हमारी पोस्ट Stone Crushing के बारे में है तो इसके नाम से ही आप अंदाजा लगा सकते है की इसमें जगह का कितना महत्व है और आप इसके लिए कितनी जगह में यह बिजनेस शुरू करेंगे |

कोई भी बिजनेस हो या फिर कोई भी शॉप हो जो आप अपने बिजनेस के लिए करना चाहते है | उसकी सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की आप बिजनेस को किस स्तर से शुरू करना चाहते है अगर आप अपना बिजनेस को छोटे स्तर से शुरू करते है तो आप कम जगह के साथ काम शुरू कर सकते है और अगर आप बड़े स्तर से बिजनेस शुरू करते है तो आपको इसमें अधिक जगह की आवश्यकता होगी |

जगह ( Space ) :- 1000 से 1500 Square Feet

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए मशीन

Machine for Stone Crushing Business :- अगर हम कोई ऐसा बिजनेस शुरू करते है जिसमे किसी वस्तु की  मैन्युफैक्चरिंग की जाती है तो उसमे कच्चे माल की आवश्यकता अवश्य ही होती है | इस बिजनेस के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मशीनरी की लिस्ट निम्न है :-

  • Jaw crusher 400X225mm 25HP
  • Jaw crusher 350×150 mm 25HP
  • 35 मिमी . के लिए रोटरी स्क्रीन
  • 15 एचपी मोटर के साथ कन्वेयर बेल्ट
  • प्रदूषण नियंत्रण cyclonic dust
  • स्टोर
  • Computer & Printer

जूट बैग मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस 

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए कच्चा माल

Raw Material for Stone Crushing Business :-आज की हमारी पोस्ट Stone Crusher के उत्पादन से संबंधित है आपको इसमें भी आवश्यक कच्चे माल की आवश्यकता होती है जिसके लिए ग्रेनाईट पत्थर का इस्तेमाल किया जाता है।

इस के लिए कच्चा माल चट्टानों से भी प्राप्त किया जा सकता है। कच्चा माल आप सीधे खदान के मालिक से ख़रीद सकते है या फिर इसके लिए आप स्वयं भी कोई खदान पट्टे पर लेकर अपना बिजनेस शुरू कर सकते है | अगर आप कोई खदान पट्टे पर लेकर अपने बिजनेस को आर्थिक रूप से स्थिर बनाते है तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा |

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए इन्वेस्टमेंट

 Investment for Stone Crushing Business :- इस बिज़नेस के अन्दर निवेश इस Business और जमीन के ऊपर निर्भर करता है क्योकि यदि बड़ा Business शुरु करते है तो ज्यादा इन्वेस्टमेंट करनी पड़ती है और छोटा बिज़नेस  शुरु करते है , तो उसके अन्दर कम इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है और खुद की जमीन है तो कम पैसो में काम चल सकता है | यदि जमीन किराये पर लेते है या खरीदते है तो उसके अन्दर ज्यादा इन्वेस्टमेंट  (Investment)करनी पड़ती है

और इसके अन्दर मशीन भी कई प्रकार की आती है और सभी के रेट भी अलग अलग है | इनके ऊपर भी इन्वेस्टमेंट निर्भर करती है  इनके बाद इस Business को अच्छे लेवल पर शुरु करने के लिए मशीन खरीदनी पड़ती बिल्डिंग बनानी पड़ती है जिसके अन्दर मशीन लगेगी और स्टॉक रखने के लिए सभी चीज के लिए बिल्डिंग फिर बिजली, पानी की सुविधा और कच्चा माल व् वाहन सभी के लिए अलग अलग इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है |

लागत ( Investment ) :-  अनुमानित 4 से 5 करोड़ रूपये ( इसकी लागत संबंधित अधिक जानकारी के लिए आपको पहले से चल रहे स्टोन क्रेशिंग कंपनी के मालिक से बात करनी होगी | )

स्कूल ड्रेस निर्माण बिजनेस

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए कर्मचारी Stone Crushing Business Hindi

Workers for Stone Crushing Business :- बिजनेस में कर्मचारियों की आवश्यकता बिजनेस के स्तर को देख कर निर्धारित कि जाती  है क्योंकि आप इस बात के बारे में  पूरी तरह सोच ले की आप बिजनेस को कितना बड़ा या छोटा रखना चाहते है  | अगर आप बड़ा बिजनेस करते है तो उसमे आपको ज्यादा लोगों की आवश्यकता होगी जिनमे की सब के काम अलग अलग होंगे |

आप को इसके लिए , अगर आप छोटे स्तर से शुरू करते है तो आपको कम ही लोगों की आवश्यकता होगी और दूसरी तरफ अगर आप इसे एक बड़े स्तर पर बिजनेस करते है तो आपको इसके लिए ज्यादा लोगों की आवश्यकता होगी | अगर आप इसे छोटे स्तर से शुरू करते है तो भी इसके लिए आपको 4 से 5 लोगो की आवश्यकता होगी |

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए GST Number

Documents for Stone Crushing Business :- कोई भी Business शुरु करते है तो कुछ पर्सनल डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़ती है और कुछ Business  से सबंधित लाइसेंस की जरुरत पड़ती है जैसे :-

  • श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के कार्यालय में श्रमिक सुरक्षा इत्यादि के लिए औपचारिकताएं करनी पड़ती हैं।
  • नगर निगम , नगर पालिका से लाइसेंस की आवश्यकता होती है।
  • Stone Crusher Business को फैक्ट्री अधिनियम के तहत पंजीकृत करना पड़ता है।
  • उद्यमी को SMPV Rules , MSIHC Rules इत्यादि का अनुसरण करना पड़ता है।
  •  जीएसटी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है।
  • PF , ESI इत्यादि का पंजीकरण करने की आवश्यकता होती है।      

रेशम का बिजनेस कैसे शुरू करें

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए मार्केटिंग

Marketing for Stone Crushing Business :- इस बिज़नेस के लिए मार्केटिंग करनी बहुत जरुरी हैं क्योंकि , इसके बिना आपको  बिज़नेस को चलाना आसान नही होगा | आप जो बिजनेस शुरू कर रहें है उसके लिए आपको मार्किट के बारे में ज्ञान होना अति आवश्यक है इसके लिए आपके बिल्डिंग एवं कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के साथ संपर्क का होना आपके बिज़नेस को प्रोत्साहित करने में सहायक होता है। इसके साथ साथ आपके सम्बन्ध भी जान पहचान करने से बनते है | इसके लिए आपको एक अच्छी सी जगह पर ऑफिस बनाना पड़ेगा और इसके साथ साथ आपको इसकी मार्केटिंग के लिए अख़बार में , टीवी पर या ऑनलाइन माध्यम से एडवरटाइजिंग करवा सकते है |

स्टोन क्रेशिंग बिजनेस शुरू करने के लिए प्रॉफिट Stone Crushing Business Hindi

Profit for Stone Crushing Business :- कोई भी बिजनेस जब हम शुरू करते है तब हम उसके अंदर किये जाने वाले निवेश , कच्चे माल , कर्मचारी आदि के बारे में विचार करते है उसी समय हम इस से होने वाले लाभ के बारे में भी पूर्व अनुमान लगा लेना चाहिए | अगर इस बिजनेस के भविष्य में लाभ के बारे में बात की जाए तो वह बहुत ज्यादा है क्योंकि , आप जानते हैं की  Stone Crusher का इस्तेमाल विभिन्न निर्माण गतिविधियों में कच्चे माल के तौर पर किया जाता है ,

जैसे सड़कों, पुलों, इमारतों एवं नहरों का निर्माण प्रमुख है। इन सबके अलावा सड़कों, फ्लाईओवर, बाई पास इत्यादि के निर्माण के लिए crushed stone की देश में लगातार आवश्यकता है। देश में ऐसी कई परियोजनाएं है जो प्रगति पर हैं और कुछ जल्दी ही शुरू होने वाली हैं | इस सब के अनुसार आप इस बिजनेस में होने वाले प्रॉफिट के बारे में अनुमान लगा सकते हैं |

यदि आपको यह Stone Crushing Business in Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला , तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social Media Sites पर Share कीजिये |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button